गहन दस्त नियंत्रण पखवाड़ा हेतु तैयारियों की समीक्षा की



जयपुर। प्रदेश में 28 मई से 9 जून तक संचालित होने वाले ‘‘गहन दस्त नियंत्रण पखवाड़ा अभियान की तैयारियों को लेकर गुरूवार को सचिवालय स्थित वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए  निदेशक आरसीएच डॉ. एस.एम. मित्तल ने सभी जिलों से जानकारियां ली एवं आवश्यक दिशा-निर्देश दिये।
डॉ. मित्तल ने बताया कि गहन दस्त नियंत्रण पखवाड़ा के दौरान 2 माह से 5 वर्ष तक के दस्त से पीड़ित बच्चों तक ओ.आर.एस.घोल एवं जिंक की गोलियां पहुंचना सुनिश्चित किया जायेगा एवं प्रदेश के आंगनबाड़ी केन्द्रों एवं सभी राजकीय चिकित्सा संस्थानों में ओ.आर.एस. व जिंक कॉर्नर स्थापित किये जायेंगे। साथ ही बच्चों को स्वच्छता, पौष्टिक आहार एवं खाना खाने से पहले हाथ धोने के बारे में भी जागरूक किया जायेगा। उन्हाेंने बताया कि सभी जिलों में ओ.आर.एस.घोल एवं जिंक गोलियों की उपलब्ध हैं। उन्हाेंने दूरस्थ ग्राम-ढ़ाणियों के साथ ही सघन शहरी बस्तियों को शामिल करते हुए माइक्रोप्लान तैयार कर प्रत्येक बच्चे तक पहुंचना सुनिश्चित करनेे के निर्देश दिये। उन्होंने एएनएम व आशासहयोगिनियों को अभियान गतिविधियों के प्रशिक्षण की जानकारी ली।
अतिरिक्त निदेशक आरसीएच डॉ. ओ.पी.थाकन ने बताया कि ‘‘गहन दस्त नियंत्रण पखवाड़ा अभियान के लिये प्राथमिक शिक्षा विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग, पंचायतीराज विभाग एवं जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग का भी सहयोग लिया जायेगा। उन्होंने प्रत्येक बच्चे के माता-पिता को दस्त होने के कारणों की जानकारी एवं उपचार के बारे में आवश्यक परामर्श देने के निर्देश दिये।
वीडियो कॉफ्रेंस बैठक में प्रदेश के जिला प्रजजन एवं शिशु स्वास्थ्य अधिकारी, जिला आशा समन्वयक एवं जिला आईईसी समन्वयक मौजूद थे।