अखिल भारतीय प्राथमिक शिक्षक संघ ने मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजकर वेतन कटौती रोकने की मांग की

सिरोही, अखिल भारतीय प्राथमिक शिक्षक संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामपाल सिंह ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को ज्ञापन भेजकर शिक्षकों के वेतन कटौती को रोकने की मांग की ।सम्बद्ध संगठन के वरिष्ठ शिक्षक नेता गोपालसिंह राव ने बताया कि  अखिल भारतीय प्राथमिक शिक्षक संघ प्राथमिक व उच्च प्राथमिक शिक्षकों का भारत मे  सबसे बड़ा संगठन है । भारत के 25 राज्यों में 23 लाख  शिक्षक संगठन के सदस्य हैं ।राव ने बताया कि राष्ट्रीय अध्यक्ष रामपालसिंह ने कोरोना काल में राजस्थान सरकार के प्रयासों की सराहना की । राजस्थान में शिक्षकों ने संक्रमण काल में बहादुरी से सरकार के साथ हर कार्यक्रम में सहयोग किया है । सर्वे , राशन वितरण, चेक पोस्ट पर ड्यूटी , कंट्रोल रूम में ड्यूटी एवं जहां सरकार ने चाहा वहां सरकार के खड़ा रहकर अपना कर्तव्य निर्वहन किया है । सरकार को कोरोना वारियर्स शिक्षकों का यह सहयोग स्मरण रखकर कटौती का निर्णय वापस लेना चाहिये । भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कर्मचारियों के अधिकारों की रक्षा का वादा किया है ।उन्होंने कोरोना काल में किसी भी कर्मचारी के वेतन कटौती नहीं करने का निर्देश दिया है । केंद्र व राज्य  सरकार ने कर्मचारियों को सहयोग की अपील की थी ।केन्द्र  व राज्य सरकार की अपीलों पर कर्मचारियों ने आगे बढ़कर अपने वेतन का यथाशक्ति अंशदान प्रधानमंत्री तथा मुख्यमंत्री राहत कोष में दिया । जिसके लिए सरकार को आभार जताना चाहिए ।उससे उलट  राजस्थान के मुख्यमंत्री कर्मचारियों पर आर्थिक उत्पीड़न का डंडा चला रहे हैं । कर्मचारियों के वेतन से अघोषित कटौती का प्रस्ताव निंदनीय है । कर्मचारियों के वेतन स्थगित का निर्णय , समर्पित अवकाश के नकदीकरण पर रोक, विभिन्न  जमाओ पर अघोषित रोक से रोष उत्पन्न हो रहा है ।यह किसी भी दृष्टि से न्याय संगत नहीं है ।इसलिए अखिल भारतीय प्राथमिक शिक्षक संघ मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से अपील करता है कि शिक्षकों के वेतन से कटौती करना बंद करें ।सरकार के इस निर्णय का अखिल भारतीय राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ के राष्ट्रीय सचिव मोहन पुरोहित , राजस्थान राज्य कर्मचारी महासंघ के जिला अध्यक्ष दशरथ सिंह भाटी, सहायक कर्मचारी महासंघ के जिला अध्यक्ष बलवन्तसिंह राव, सम्बद्ध संगठन  शिक्षक संघ राष्ट्रीय  ,कर्मचारी महासंघ की प्रदेश सह मंत्री (महिला ) श्रीमती आशा देवडा , अरविंद परमार , नथाराम परमार , गोविन्द कुमार , दिनेश कुमार रावल ,रतनदीपसिंह , वीपीसिंह , पन्नालाल राव , पर्वतसिंह ,मनोज शर्मा ,सुरेश कुमार , युवराजसिंह सहित सभी कार्यकर्ताओं  ने विरोध जताया ।

SHARE