12वीं फेल ‘आईपीएस’ अभय से भर्ती परीक्षाओं में घोटाले की चार्जशीट की काॅपी भी बरामद


फर्जी आईपीएस बनकर देश के अलग-अलग राज्य घूमने वाले अभय मीणा की पहचान करके भले ही एसओजी पकड़ लिया है। लेकिन पिछले तीन दिन में पुलिस को अभी तक ये पता नहीं चला कि अभय के पास घूमने के लिए इतने पैसे कहां से आते है। अभय को एसओजी द्वारा पकड़ने के बाद प्रताप नगर थाना पुलिस ने कोर्ट में पेश किया, जहां से तीन दिन के रिमांड पर भेज रख है।

गौरतलब है कि फर्जी आईपीएस बन घूम रहे अभय को शुक्रवार को एसओजी ने प्रताप नगर स्थित एक अपार्टमेंट के फ्लैट से पकड़ा था। उस अभय के पास एसओजी को आईपीएस की दो वर्दी, तीन एयरगन, भर्ती परीक्षा के मामले में एसओजी द्वारा कोर्ट में पेश की गई चार्जशीट फाइल की कॉफी, सीआईडी सीबी द्वारा जारी जाली आई कार्ड बरामद किया था। 12वीं फेल फर्जी आईपीएस अभय फेसबुक के जरिए दोस्ती करके उत्तराखंड से एक लड़की को जयपुर बुला लिया और दोनों लीव इन रिलेशनशिप में रह रहे थे।
अभय ऐसे बना आईपीएस :
एसओजी के एडीशनल एसपी करन शर्मा ने बताया कि 12वीं में फेल होने के बाद अभय दिल्ली में रहने वाले एक रिश्तेदार के घर चला गया। जहां आएं दिन समाज से बने अफसरों के बारे में सुन-सुनकर खुद अफसर बनने की ठान ली। उसके बाद अभय ने गांव में माहौल बनाने के लिए एक साल बाद बताया कि मेरा आईआईटी दिल्ली में चयन हो गया। बीटेक कम्पलीट बता सिविल सर्विसेज की तैयारी की झूठ फैला दिया। एक साल बाद बता दिया कि आईपीएस के लिए चयन हो गया है।
फेसबुक ने पकड़वाया :
अभय लगातार अपनी फेसबुक पर अपडेट कर रहा था। इस दौरान एक जने ने इसके बारे में देखा तो एसओजी को सूचना दे दी। एसओजी ने भी सूचना मिलने के बाद एक दिन में ही अभय की कुण्डली निकाल ली और अगले दिन प्रताप नगर से पकड़ लिया। अभय की फेसबुक पर पुलिस वर्दी में कई लोगों की फोटो लगी हुई है। जिनकी तस्दीक की जा रही है। अभय ने जयपुर में सैनिक स्टोर से दो वर्दी खरीदी थी। वह वर्दी लगाकर गांव में एक बार ही गया था।