बाकी सालों की अपेक्षा इस बार पड़ेगी कड़ाके की ठंड, IMD ने जारी किया अलर्ट

     इस बार कड़ाके की सर्द पड़ने की संभावना है। बाकी साल की अपेक्षा उत्तर भारत के कई राज्यों में जबरदस्त ठंड होने वाली है। उत्तर भारत में कड़ाके की सर्दी पड़ने की संभावना है और इस मौसम में शीत लहरों की आवृत्ति में वृद्धि देखी जा सकती है। भारतीय मौसम विभाग (IMD) ने दिसंबर से फरवरी के लिए अपने सर्दियों के पूर्वानुमान में कहा कि उत्तर और मध्य भारत में सामान्य न्यूनतम तापमान नीचे रहने की संभावना है।

    भारतीय मौसम विज्ञान (IMD) के महानिदेशक मृत्युंजय मोहापात्रा ने कहा कि इस बार के मौसम में उत्तर भारत में सर्दी के बढ़ने की संभावना ज्यादा है। उन्होंने कहा कि उत्तर भारत में रात का तापमान सामान्य से नीचे रहने की संभावना है, जबकि दिन का तापमान सामान्य से ऊपर रहने की संभावना है।

    वहीं, दिल्ली में नवंबर के महीने में ही ठंड ने दस्तक दे दी है। सुबह और देर रात दिल्ली एनसीआर में कड़ाके की ठंड पड़ रही है और इस दौरान सर्द रातों को लेकर कई सालों के रिकॉर्ड भी टूटे हैं।

    अगले 24 घंटों के दौरान बेंगलुरू में हो सकती है हल्की बारिश

    वहीं, दूसरी ओर आइएमडी ने रविवार को बेंगलुरू में ‘आमतौर पर बादल छाए रहने’ और अगले 24 घंटों के दौरान यहां के कुछ इलाकों में हल्की बारिश के साथ हल्की बारिश की संभावना जताई है। आइएमडी द्वारा जारी किए गए ताजा बुलेटिन के अनुसार कुछ क्षेत्रों में सुबह के समय धुंध के साथ कोहरा होने की संभावना है।

    इसके अलावा, उत्तर आंतरिक कर्नाटक पर कुछ स्थानों पर और दक्षिण आंतरिक भागों में रविवार को अलग-अलग स्थानों पर बारिश हुई थी, जबकि तटीय क्षेत्रों में मौसम शुष्क बना रहा।

    बेंगलुरु शहर में अधिकतम और न्यूनतम तापमान क्रमशः 26 और 18 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने की संभावना है।

    आइएमडी के अनुसार  दावणगेरे में राज्य के मैदानी इलाकों में न्यूनतम तापमान 12.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। इसके अलावा मछुआरों के लिए अभी कोई चेतावनी जारी नहीं की गई है।

    SHARE