3.9 फीट की आकांक्षा बनीं मां, घर आई नन्ही परी


जोधपुर. सिर्फ 3.9 फीट की आकांक्षा (25) की शुक्रवार को एमडीएम जनाना विंग में सीजेरियन डिलेवरी हुई। 2.1 किग्रा व 20 इंच की स्वस्थ बच्ची जन्मी। हालांकि प्रसव जटिल था। प्रसूता की लंबाई कम, एरोटा धमनी व सांस की नली सिकुडी थी। अमेरिकन सोसायटी ऑफ एनेस्थिसिया के अनुसार इसमें मरीज की ऑपरेशन टेबल पर मौत भी हो सकती है।

एनेस्थिसिया विभाग के डॉ. टाक ने बताया कि कम लंबाई, रीढ़ की हड्डी का विलय होना, सांस नली का सिकुड़ा होना, फेफड़ों का छोटा होना व हृदय में विकृतियों के कारण केस जटिल था। टीम ने उचित निर्णय लेते हुए जनरल एनेस्थिसिया में प्रसव करवाया। मरीज की धड़कन व रक्तचाप नियंत्रित रखना चुनौती थी। ऑपरेशन में डॉ. विमला चौधरी, डॉ. एमएल टाक, डॉ. विकास राजपुरोहित, डॉ. प्रतिमा यादव, 4 रेजिडेंट और नर्सिंग स्टाफ विनोद, लोकेंद्र और प्रियंका ने भूमिका निभाई।