52 साल में 40 राज्यपाल बने, कोई भी पूरा नहीं कर पाया कार्यकाल, कल्याण सिंह कल पूरे करेंगे 5 साल


राजस्थान में राज्यपालाें के कार्यकाल पूरा नहीं करने काे लेकर 52 साल से जारी मिथक दाे सितंबर काे टूट जाएगा। राज्यपाल कल्याण सिंह साेमवार काे अपना पांच साल का कार्यकाल पूरा करेंगे। ऐसा 1967 में राज्यपाल सम्पूर्णानंद के बाद पहली बार हाेगा।

पिछले 52 साल में प्रदेश में 40 राज्यपाल बने, लेकिन इनमें से काेई भी 5 साल का कार्यकाल पूरा नहीं कर पाया। इनमें से कुछ इस्तीफा दे गए ताे कुछ की कार्यकाल के बीच में इस पद पर नियुक्ति हुई। इसके अलावा केंद्र में सरकार बदलने पर कार्यकाल के बीच में ही राज्यपाल बदल गए। प्रतिभा पाटील ताे राज्यपाल रहते हुए राष्ट्रपति के पद तक भी पहुंची। चार राज्यपालाें का पद पर रहते हुए निधन भी हुआ। इस पर मिथक बन गया था कि राजस्थान में काेई भी राज्यपाल अपना कार्यकाल पूरा नहीं कर पाता।

प्रदेश में पिछले 52 साल में जिन 40 राज्यपालाें की नियुक्ति हुई, उनमें से 17 ऐसे दूसरे प्रदेश के राज्यपाल थे और उन्हें कुछ समय के लिए राजस्थान का अतिरिक्त चार्ज दिया गया था। इसके अलावा कल्याण सिंह सहित 23 राज्यपालाें की पूरे 5 साल के लिए नियुक्ति की गई। कल्याण काे छाेड़कर 22 राज्यपाल अपना कार्यकाल पूरा नहीं कर पाए।

बलिराम भगत 4 साल 10 महीने, अंशुमान सिंह 4 साल 8 महीने, जोगेंद्र सिंह 4 साल 7 महीने और रघुकुल तिलक 4 साल 3 महीने तक के सर्वाधिक कार्यकाल तक इस पद पर रहे। अब राज्यपाल कल्याण सिंह काे कुछ महीने का एक्सटेंशन मिला ताे वह पांच साल से अधिक समय का कार्यकाल वाले राज्यपालाें की श्रेणी में भी आ जाएंगे।

52 साल से पहले 3 राज्यपाल 5 साल पद पर रहे

52 साल से पहले तीन राज्यपालाें ने कार्यकाल पूरा किया। इनमें 30 मार्च 1949 से 31 अक्टूबर 1956 तक राज प्रमुख के रूप में सवाई मानसिंह, इनके बाद गुरुमुख निहाल सिंह 1 नवंबर 1956 से 15 अप्रैल 1962 तक तथा 1962 से 1967 तक डाॅ. सम्पूर्णानंद पूरे 5 साल के लिए राज्यपाल रहे।

राज्यपाल कार्यकाल
डाॅ. सम्पूर्णानंद 16 अप्रेल 1962 से 15 अप्रेल 1967
सरदार हुकम सिंह 16 अप्रेल 1967 से 19 नवंबर 1970
सरदार जोगेंद्र सिंह 1 जुलाई 1972 से 14 फरवरी 1977
जस्टिस वेदपाल त्यागी (चार्ज) 15 फरवरी 1977 से 11 मई 1977
रघुकुल तिलक 12 मई 1977 से 8 अगस्त 1981
जस्टिस के.डी शर्मा (चार्ज) 8 अगस्त से 1981 से 5 मार्च 1982
एयर चीफ मार्शल ओपी मेहरा 6 मार्च 1982 से 4 जनवरी 1985
जस्टिस पी.के. बेनर्जी (चार्ज) 5 जनवरी 1985 से 31 जनवरी 1985
एयर चीफ मार्शल ओपी मेहरा 1 फरवरी 1985 से 3 नवंबर 1985
जस्टिस डीपी गुप्ता (चार्ज) 4 नवंबर 1985 से 19 नवंबर 1985
वसंत राव पाटील 15 अक्टूबर 1987 से 19 फरवरी 1988
जस्टिस जगदीश शरण वर्मा 20 नवंबर 1985 से 14 अक्टूबर 1987
सुखदेव प्रसाद 20 फरवरी 1988 से  2 फरवरी 1989
जस्टिस जगदीश शरण वर्मा (चार्ज) 3 फरवरी 1989 से 19 फरवरी 1989
सुखदेव प्रसाद 20 फरवरी 1989 से 2 फरवरी 1990
मिलापचंद जैन (चार्ज) 3 फरवरी 1990 से  13 फरवरी 1990
देवी प्रसाद चट्टोपाध्याय 14 फरवरी 1990 से 25 अगस्त 1991
डा. स्वरूप सिंह (चार्ज) 26 अगस्त 1991 से 4 फरवरी 1993
डा. एम.चेना रेड्डी 5 फरवरी 1992 से  30 मई 1993
धनिकलाल मंडल (चार्ज) 31 मई 1993 से 29 जून 1993
बलिराम भगत 30 जून 1993 से 30 अप्रेल 1998
सरदार दरबारा सिंह 1 मई 1998 से 23 मई 1998
एन.एल. टिबरेवाल (चार्ज) 24 मई 1998 से 15 जनवरी 1999
जस्टिस अंशुमान सिंह 16 जनवरी 1999 से 13 मई 2003
निर्मलचंद्र जैन 14 मई 2003 से 22 सितंबर 2003
कैलाशपति मिश्रा (चार्ज) 22 सितंबर 2003 to 13 जनवरी  2004
मदनलाल खुराना 14 जनवरी 2004 से 31 अक्टूबर 2004
टीवी राजेश्वर (चार्ज) 1 नवंबर 2004 से 7 नवंबर 2004
प्रतिभा पाटील 8 नवंबर 2004 से 23जून  2007
डा. ए.आर. किदवई (चार्ज) 23 जून 2007 से  5 सिंतबर 2007
शेलेंद्र कुमार सिंह 6 सितंबर 2007 से 9 जुलाई 2009
रामेश्वर ठाकुर (चार्ज) 10 जुलाई 2009 से 22 जुलाई 2009
शेलेंद्र कुमार सिंह 23 जुलाई 2009 से 1 दिसंबर 2009
प्रभा राव (चार्ज) 3 दिसंबर 2009 से 24 जनवरी  2010
प्रभा राव 25 जनवरी 2010 से 26 अप्रेल 2010
शिवराज पाटील (चार्ज) 28 अप्रेल 2010 से 11मई 2012
मारग्रेट अल्वा 12 मई 2012 से 7 अगस्त 2014
राम नाइक (चार्ज) 8 अगस्त 2014 से 3 सितंबर 2014