अधीर रंजन ने अब कहा- कश्मीर आंतरिक मामला; कर्ण सिंह बोले- सरकार के फैसले के कई सकारात्मक पहलू


अनुच्छेद 370 के निष्प्रभावी होने के बाद पाकिस्तान ने भारत के साथ व्यापारिक संबंधों को खत्म कर दिया है। इस पर कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा- मुझे पता था कि पाकिस्तान कुछ ऐसा करने जा रहा है। कश्मीर हमारा आतंरिक मामला है। हमारे देश को यह तय करने का पूरा अधिकार है कि देश में किस कानून को पारित किया जाए। कांग्रेस नेता डॉ.कर्ण सिंह ने कहा- इस फैसले के कई सकारात्मक पहलू हैं। इसका स्वागत किया जाना चाहिए।

इससे पहले चौधरी ने मंगलवार को संसद में कहा था कि जब यह मामला संयुक्त राष्ट्र में चल रहा है तो यह मामला अंदरूनी कैसे हुआ? कांग्रेस पार्टी जानना चाहती है कि क्या सरकार पोओके के बारे में नहीं सोच रही है। आप कश्मीर पर स्थिति को स्पष्ट कीजिए। चौधरी के इस बयान पर सोनिया गांधी और राहुल गांधी ने नाराजगी जाहिर की थी।

कश्मीर में स्थिति एक बंदी शिविर के समान: चौधरी

अधीर रंजन चौधरी ने कहा था, “पीएम ने लाल किले से घोषणा की थी कि हम कश्मीरियों को गोलियों से नहीं, बल्कि उन्हें गले लगाकर आगे बढ़ाएंगे, लेकिन आज कश्मीर में स्थिति एक बंदी शिविर के समान है। घाटी में मोबाइल और इंटरनेट बंद है, अमरनाथ यात्रा को रोक दिया गया। वहां हो क्या रहा है?” विदेश मंत्री एस.जयशंकर ने कुछ दिन पहले कश्मीर मसले पर अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो से कहा था कि यह मामला द्विपक्षीय है।

लद्दाख को केंद्रशासित प्रदेश बनाए जाने का स्वागत: डॉ. सिंह

कांग्रेस नेता और महाराजा हरि सिंह के बेटे डॉ.कर्ण सिंह ने कहा कि लद्दाख को केंद्र शासित प्रदेश बनाए जाने के फैसले का स्वागत किया जाना चाहिए। सरकार को 35ए में लैंगिक भेदभाव को लेकर स्थिति स्पष्ट करने की जरूरत है। मेरी एकमात्र चिंता जम्मू-कश्मीर के सभी वर्गों और क्षेत्रों के कल्याण को लेकर है।