जनाना अस्पताल में 27 दिन बाद फिर पालना गृह में छोड़ी 36 घंटे की नवजात, एफबीएनसी में भर्ती


जनाना अस्पताल में स्थित पालना गृह में बुधवार को कोई नवजात बच्ची को छोड़ गया। 27 दिन में पालना गृह में नवजात रखने की यह दूसरी ओर जनाना अस्पताल में पांचवीं घटना है। जनाना अस्पताल प्रभारी डा. बीएल राड़ ने बताया कि बुधवार शाम 6.35 बजे पालने का अलार्म बजा।

एफबीएनसी का नर्सिंग स्टाफ जयसिंह शेखावत पालने के पास पहुंचे तो नवजात मिली। बच्ची को एफबीएनसी में भर्ती किया। चाइल्ड स्पेशलिस्ट डा. स्वाति मिश्रा को सूचना भिजवाई। इसके बाद नवजात का इलाज शुरू किया गया। डा. बीएल राड़ ने बताया कि बच्ची का वजन दो किलो 300 ग्राम है। संभवतया: महिला की अस्पताल में ही डिलीवरी हुई है। क्योंकि बच्ची की नाल पर धागा बंधा हुआ है। बच्ची के स्वास्थ्य परीक्षण से लगता है कि उसका जन्म 36 घंटे पूर्व हुआ है। नवजात बच्ची का स्वास्थ्य बिल्कुल सही है।