बच्ची से दुष्कर्म के बाद बवाल, उपद्रवियों ने 100 वाहन तोड़े; 13 थाना क्षेत्रों में इंटरनेट बंद


शहर के शास्त्री नगर में सोमवार रात सात साल की एक बच्ची से दुष्कर्म की घटना के बाद से दो समुदाय आमने-सामने आ गए। इसके चलते मंगलवार को 13 थाना क्षेत्रों में इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई। इलाके में भारी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात की गई है। घटना से गुस्साए कुछ लोगों ने भट्‌टा बस्ती इलाके में दो बार पुलिसकर्मियों पर पथराव भी किया।

दरअसल,  शास्त्री नगर इलाके में सोमवार देर शाम को एक युवक सात साल की बच्ची को उसके पापा का दोस्त बनकर अगवा कर ले गया। इसके बाद बच्ची से दुष्कर्म किया और करीब दो घंटे बाद बच्ची को लहूलुहान हालत में लावारिस छोड़कर भाग गया। गंभीर हालत में बच्ची को अस्पताल में भर्ती कराया गया।

करीब 100 वाहनों के शीशे तोड़े
घटना से गुस्साए सैंकड़ों लोगों ने रात को कांवटिया सर्किल पर प्रदर्शन किया। इसके बाद पुलिस ने उन्हें समझाइश कर वापस भेज दिया। लौटते वक्त कुछ उपद्रवी युवकों ने कॉलोनी में सड़क पर खड़े करीब 100 वाहनों के शीशे फोड़ डाले। घरों में पत्थर फेंके। तोड़फोड़ के वक्त कॉलोनी के लोग घरों से बाहर निकले। तब उनसे मारपीट भी की। इससे इलाके में तनाव हो गया और मामला दो समुदायों के बीच हो गया।

थाने का किया घेराव
हंगामा और अफवाहों को देखते हुए प्रशासन ने इंटरनेट बंद कर दिया। भारी संख्या में पुलिस बल और आरएसी की कंपनियां तैनात की गई।
मंगलवार सुबह गुस्साए कॉलोनीवासी सैंकड़ों की संख्या में शास्त्री नगर थाने पहुंच गए। वहां थाने का घेराव कर गाड़ियों में तोड़फोड़ और घरों में पथराव करने वाले उपद्रवियों को गिरफ्तार करने की मांग की। इनके समर्थन में भाजपा के शहर अध्यक्ष और पूर्व विधायक मोहनलाल गुप्ता भी शास्त्री नगर पहुंचे।

इलाके के स्कूलों में छुट्‌टी  
इसके बाद मंगलवार को भी सड़कों पर काफी संख्या में लोग हाथों में डंडे लेकर घूमते नजर आए। सूचना मिलने पर पुलिस कमिश्नर आनंद श्रीवास्तव सहित पुलिस कमिश्नरेट के सभी अधिकारी और थानों की फोर्स पहुंची। तनाव को देखते हुए इलाके में स्कूलों की छुट्‌टी कर दी गई। कई दुकानदारों ने दुकानें बंद कर दी। वहीं, इस मामले में पुलिस ने करीब एक दर्जन युवकों को पत्थरबाजी के आरोप में हिरासत में लिया है।