तेज बारिश के बाद नदी-नाले उफान पर, कई बस्तियों से संपर्क कटा; मौसम विभाग ने जारी किया रेड अलर्ट


प्रदेश में गुरुवार को भी बारिश का दौर जारी रहा। यहां सुबह से रुक-रुककर हो रही बारिश के कारण कई इलाकों में पानी भर गया। जिससे राखी होने के कारण लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा। जयपुर, कोटा, भीलवाड़ा के आसपास के इलाकों में भी बारिश रिकॉर्ड की गई। वहीं बारां में पिछले 24 घंटे में 42 एमएम बारिश रिकॉर्ड की गई। यहां जसीसवाली खाड़ी नदी में पानी की आवक बढ़ी है, जिससे सीसवाली पुलिया डूबने की संभावना है।

वहीं, बारां की भैरूपुरा बस्ती पुलिया डूब चुकी है। जिससे बस्ती का कस्बे से संपर्क कट गया है। इसके पास स्थित सीसवाली कोटा रोड़ पर कालीसिंध नदी पर स्थित पुलिा भी डूबने की सूचना है। जिससे कोटा मांगरोल सीसवाली, कोटा श्योपुर मार्ग बाधित हो गया है। वहीं दूसरी तरफ ल्हासी बांध का जलस्तर लगातार बढ़ता जा रहा है। जिससे बांध के तीनो गेट खोलकर 13200 क्यूसेक पानी की निकासी की जा रही है। जिससे बांध के नीचे के क्षेत्र में बने छीपा बड़ोद, दिगोद खालसा गांव, खजुरिया डेम कॉलोनी, कवाई सालपुरा, रेलवे लाइन व ल्हासी नदी के किनारे बसे गांवों के प्रभावित होने की संभावना है।

तेज बारिश का अलर्ट

मौसम विभाग ने पूर्वी राजस्थान के अजमेर, बांसवाड़ा, बारां, भरतपुर, भीलवाड़ा, बूंदी, चित्तौड़गढ़, डूंगरपुर, झालावाड़, कोटा, प्रतापगढ़, राजसमंद, सिरोही, टोंक और उदयपुर में रेड अलर्ट जारी किया गया है। साथ ही अलवर और करौली में ऑरेंज अलर्ट है। वहीं, दौसा, धौलपुर, जयपुर, सवाईमाधोपुर, सीकर, जौधपुर, नागौर, पाली में हल्की बारिश की संभावना है।

वहीं बीती रात अजमेर में 8.0, भीलवाड़ा में 15.2, वनस्थली में 162.5, जयपुर में 41.8, पिलानी में 29.6, सीकर 4.8, सवाईमाधोपुर में 74.0, चित्तौड़गढ़ में 16.0, डबोक में 9.7,  जोधपुर में 9.0, माउंटआबी में 27.4 डिग्री पारा रिकॉर्ड किया गया।

मध्यप्रदेश से वागड़ की ओर बढ़ रहा है कम दबाव का क्षेत्र, चेतावनी जारी

बंगाल की खाड़ी से उठे कम दबाव का क्षेत्र बहुत मजबूत है और वह अब राजस्थान की तरफ बढ़ रहा है। मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार यह कम दबाव का क्षेत्र छत्तीसगढ़ से निकल कर मध्यप्रदेश की तरफ बढ़ गया है। कम दबाव का क्षेत्र मुख्य रूप से चार राज्यों को प्रभावित करेगा, जिसमें महाराष्ट्र, गुजरात, मध्यप्रदेश व राजस्थान शामिल है। जिससे अगले 24 घंटों में राजस्थान में अच्छी बारिश की संभावना है।