अलवर गैंगरेप पीड़िता को बनाया जाएगा कांस्टेबल, सरकार ने शुरू की प्रक्रिया


लवर गैंगरेप पीड़ित को पुलिस कांस्टेबल बनाया जाएगा। सरकार ने इसका प्रस्ताव तैयार कर लिया है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पीड़िता को सरकार नौकरी देने की घोषणा की थी। इसी के तहत सरकार ने पीड़िता को नौकरी देने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। वहीं कुछ दिन पहले पीड़िता ने भी पुलिस में जाने की इच्छा जाहिर की थी। पीड़िता ने कहा था कि पुलिस में नौकरी करना चाहती है ताकि ऐसे जघन्य अपराध करने वालों को कड़ी से कड़ी सजा दिला सके।

उधर, इस मामले में पुलिस ने आज चार्जशीट दाखिल कर दी। सरकार ने इस मामले में दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने का वादा किया था। गृह विभाग के सूत्रों के अनुसार सरकार ने मुख्यमंत्री की घोषणा पर अमल करते हुए पीड़िता को नौकरी देने का प्रस्ताव तैयार कर लिया है। अब इसे पारित कराने के लिए कैबिनेट में भेजा जाएगा।

यह है मामला

घटना 26 अप्रैल की है। थानागाजी निवासी दंपती बाइक से जा रहे थे तभी पांच युवकों ने पीछा करके उन्हें रोक लिया। उन्हें जंगल में ले गए। वहां पति के सामने महिला से सामूहिक दुष्कर्म किया। आरोपियों ने इसका वीडियो भी बनाया। पीड़ित थाने गए, लेकिन पुलिस ने चुनाव में व्यस्तता का हवाला देकर एफआईआर दर्ज करने से मना कर दिया। इसका वीडियो वायरल होने के बाद यह घटना सामने आई। तब दो मई को एफआईआर दर्ज की गई।