ढाणी में लगी आग में फंसे मासूम भाई-बहन जिंदा जले


जोधपुर. जिले के देणोक चाडी गांव में शनिवार दोपहर एक ढाणी में लगी आग में दो बच्चे जिंदा जल गए। बहन-भाई अपनी ढाणी में बैठे थे। उनके माता-पिता कहीं बाहर गए हुए थे। आग लगने के बाद दोनों बच्चों को बाहर निकलने का मौका तक नहीं मिल पाया।

देणोक चाडी गांव में पूनाराम भील की ढाणी में आज दोपहर अचानक आग लग गई। आग लगते ही झोपड़े के ऊपरी हिस्से में तेजी से आग फैली और पूरा झूपा नीचे आ गिरा। इस कारण वहां खेल रहे दस वर्षीय सुनील व बारह वर्षीय उसकी बहन सुशीला को बाहर निकलने का मौका नहीं मिला। दोनों बच्चों के अलावा वहां बंधे बकरियों के कुछ बच्चे व एक बिल्ली भी जलकर मर गए। आग लगते ही क्षेत्र के लोग भाग कर मौके पर गए और उन्होंने राहत कार्य शुरू किया, लेकिन आग बुझाने तक दोनों बच्चों ने दम तोड़ दिया। सूचना मिलते ही पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंचे है।