द्रढ़ आस्था ने करवाया भक्त को बाबा के दर्शन!



भक्त नन्दराम महाराज ने 70 वर्ष की उम्र में टोंक से पैदल चलकर रूणिचा की यात्रा मात्र 13 दिन में पूरी की। मेंदवास टोंक निवासी नन्दराम महाराज ने मंगलवार 15 मई को कस्बे में स्थित बाबा रामदेव मन्दिर में अखण्ड ज्योति जलाकर लोकदेवता बाबा रामदेवजी की यात्रा के लिये रवाना हुये। यात्रा के दौरान सैकड़ो मीलो का सफर तय किया इन दिनो का तापमान आम आदमी के लिये असहनीय है लेकिन बाबा रामदेवजी के प्रति दिनेश महाराज की द्रढ़ आस्था के कारण इस भीष्ण गर्मी को सहन करते हुए व रास्ते में कई समस्याएं आई सभी समस्याओ को भुलाकर बाबा रामदेवजी का स्मरण करते हुए रविवार 27 मई देर रात तक पवित्र नगरी रामदेवरा पहुंचे।
महाराज ने रामदेवरा पहुंच कर रात भर आराम किया सुबह रामसरोवर में स्नान किया तथा मंगल आरती में बाबा की समाधि के दर्शन कर पूजा अर्चना कर अमन चैन की कामना की। फिर श्री बाबा रामदेव जन सेवा समिति राजस्थान प्रदेश की ओर से संचालित नि:शुल्क भण्डारा पाण्डाल में आये समिति पाण्डाल में आने पर राजेन्द्र कुमार गोठवाल सहित रामदेवरा में कार्यरत समिति की टीम ने नन्दराम महाराज का अभिनन्दन किया। व आराम के लिए आसन दिया, भोजन करवाया और आपस में कुछ चर्चाएं होने पर राजेन्द्र कुमार गोठवाल ने बताया कि यात्रा करने से पूर्व महाराज की कई मनोकामनायें पूरी हुई है तो इन्होने संकल्प लिया था कि यात्रा पूरी करके ही दाढ़ी के बाल कटवायेंगे। और प्रति वर्ष पैदल यात्रा करेंगे। इस दौरान नन्दराम महाराज टोंक, भैरूराम बैरवा, राजेन्द्र कुमार गोठवाल, मीरा देवी, गायत्री, व नाथूराम सहित अन्य लोग मौजूद थे।