कलाई के स्पिनरों को पढ़ने में बल्लेबाजों को हो रही है मुश्किल: शाकिब



बांग्लादेश के कप्तान शाकिब अल हसन ने आज यहां कहा कि कलाई के स्पिनर सीमित ओवर क्रिकेट में कप्तानों के सबसे भरोसेमंद हथियार बनते जा रहे हैं क्योंकि वे पिच के हालात पर निर्भर रहे बिना गेंद टर्न करा सकते हैं और विरोधी बल्लेबाजों को परेशानी में डाल सकते हैं। पिछले एक साल में कलाई के स्पिनरों युजवेन्द्र चहल और कुलदीप यादव ने भारतीय टीम के लिए शानदार प्रदर्शन किया है। इस साल आईपीएल में भी पंजाब के युवा स्पिनर मयंक मार्कंडेय ने मुंबई इंडियन्स के लिए दो मैचों में सात विकेट झटके है।

शाकिब की टीम सनराइजर्स हैदराबाद के राशिद खान ने भी प्रभावित किया है और पिछले साल वह एमर्जिंग प्लेयर ऑफ टूर्नामेंट रहे थे। शाकिब ने कहा ,”हर कोई कलाई के स्पिनरों को खेलने का अभ्यस्त नहीं होता, इसलिए बल्लेबाजों को इससे निपटने में परेशानी होती है। वे ( लेग स्पिनर ) किसी भी विकेट पर गेंद टर्न सकते है। यह उनके लिए एक फायदे की तरह है। कोलकाता नाइट राइडर्स के साथ दो बार चैम्पियन बनने वाले शाकिब , मनीष पांडे और युसूफ पठान कल ईडेन गार्डेन्स में ‘ऑरेन्ज आर्मी (हैदराबाद)’ के लिए मैदान में उतरेंगे। शाकिब ने कहा, ”आईपीएल में यह आपके हाथ में नहीं है कि आप अपनी टीम चुने। यह फैसला फेंचाइजियों को करना होता है। हमें टीम बदलना पड़ता है। उम्मीद है कि मैं सनराइजर्स हैदराबाद के लिए कुछ यादगार प्रदर्शन कर पाऊंगा। यही मेरा लक्ष्य है।”