भारती राज के यहां सर्च में 18 करोड़ की संपत्ति उजागर, वरिष्ठ लेखाधिकारी के पास छह करोड़ की संपत्ति मिली

जयपुर. भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो मुख्यालय इन्टेलिजेन्स शाखा कि गोपनीय सूचना के आधार पर आय से अधिक सम्पत्ति के मामले में ब्यूरो मुख्यालय पर आदिवासी क्षेत्र विकास निगम उदयपुर (टीएडी) में पदस्थापित वित्तीय सलाहकार भारती राज एवं यूआईटी उदयपुर में पदस्थापित रमेश बावरी वरिष्ठ लेखाधिकारी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर आज एसीबी की सात टीमों द्वारा कुल सात जगहों पर सर्च अभियान में बेनामी अकूत संम्पति मिली है।

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो, महानिदेशक आलोक त्रिपाठी के निर्देशन में 31 जुलाई को आदिवासी क्षेत्र विकास निगम उदयपुर (टीएडी) में पदस्थापित वित्तिय सलाहकार भारती राज एवं यूआईटी उदयपुर में पदस्थापित वरिष्ठ लेखाधिकारी रमेश बावरी के विभिन्न स्थानों पर की गयी सर्च कार्यवाही जो निम्नांकित है।

आदिवासी क्षेत्र विकास निगम उदयपुर (टीएडी) में पदस्थापित वित्तिय सलाहकार भारती राज के विभिन्न स्थानों सर्च कार्यवाही के दौरान निम्नलिखति नगद राशि एवं संम्पति से संबधित दस्तावेज मिले।

1. उदयपुर स्थित पोश एरिये में निवास स्थान नवरत्न कॉम्पलेक्स

2. भुवाना स्किम में 500 वर्ग गज का भूखण्ड़।

3. पिछोला झील के पास होटल डाइन-11 के कागजात मिले

4. एक आवासीय भूखण्ड़ पुत्र के नाम कागजात

5. बीकानेर में 2 मंजिले शोरूम के कागजात

6. 50 लाख रूपयें के आरइसील के बॉन्ड के कागजात मिले

7. तीन लाख रूपये तीन लाईफ इन्शोरेन्स के कागजात मिले

8. ढाई लाख के 2 टर्म प्लान पोलिसी के कागजात मिले

9. स्वयं के नाम विभिन्न बैंको में नकद व एफडीआर के रूप में 1 करोड़ 3 लाख रूपये के कागजात मिले

10. पिता के नाम विभिन्न बैंको में 97 लाख के एफडीआर मिली

11. चार बैंक लॉकर के कागजात मिले जिसमें केनरा बैंक के 1 लॉकर में 30 लाख रूपयें की सोने की ज्वेलरी जो डायमण्ड़/रूबी एवं मानक से जड़ित है एव शेष 2 लॉकर को खोला जाना बाकी है एवं 1 लॉकर खाली मिला

12. घर पर लगभग 8-10 लाख रूपये के सोने चॉदी के आभूषण मिले

13. निवास स्थान से 250 डॉलर एव 500 यूरो विदेशी मुद्रा जप्त की गयी

14. पिछले 10 सालों में 21 देशों की निजी विदेश यात्रा की जिसके खर्चे के लगभग 20 लाख रूपये के दस्तावेज मिलें

15. एक आई-20 कार एवं स्कूटी के कागजात भी मिले। चल-अचल सम्पति की अनुमानित बाजार कीमत लगभग 15 से 18 करोड़ रूपये है। वित्त सलाहकार के मुकदमें में अनुंसधान एसीबी मुख्यालय जयपुर-प्रथम के एडिशनल एसपी आलोक शर्मा को सौंपी गई है।

वरिष्ठ लेखाधिकारी के घर व ऑफिस में एसीबी सर्च में सामने आई छह करोड़ की संपत्ति

डीजी डॉ. आलोक त्रिपाठी ने बताया कि रमेश बावरी वरिष्ठ लेखाधिकारी के सर्च कार्यवाही में निम्नलिखित नगद राशि एवं सम्पति सें संबधित दस्तावेज मिले है। इनमें 5 लाख 47 हजार रूपयें की नकद राशि बरामद की गयी एवं सोने-चांदी के आभूषण मिले। जिनकी अनुमानित कीमत 1 लाख 40 हजार है।

1. उदयपुर स्थित बेडनपाड़ा ग्रांम में 2.45 हैक्टेयर कृषि भूमि के कागजात मिले।

2. उदयपुर शहर मे 80 फीट रोड़ में सेक्टर 9 में 3 भूखंण्ड जिनमें एक में स्वंय रहता है दूसरे में एक स्कूल संचालित है तथा तीसरे में 5 से 7 दुकानें है व सेक्टर 9 में एक अन्य मकान के कागजात मिले।

3. उदयपुर स्थित तितरड़ी ग्रांम में 0.34 हैक्टेयर कृषि भूमि एवं 1 मकान के   कागजात मिले।

4. खटुकड़ा रेल मगरा में 6 बीघा 1 बिस्वा कृषि भूमि के कागजात मिले।

5. चौगान योजना स्कीम के व्यवसाय कॉम्पलेक्स उदयपुर में तीसरी मंजिल पर एक दुकान।

6. गड़वात ऋषभदेव में 0.955 हैक्टेयर जमीन जो एसटी की होने के कारण पत्नि के नाम रहननामा कर रखा है जिसमें होटल संचालित है।

7. जयपुर विद्याधर नगर में 1 दुकान है।

8. जयपुर हाथोज में 1 प्लांट एवं संजय नगर (डीसीएम) में 1 मकान के कागजात मिले। समस्त चल-अंचल संम्पति की अनुमानित बाजार कीमत लगभग 6 करोड़ रूपये है। वरिष्ठ लेखाधिकारी के मुकदमे में अनुंसधान अधिकारी अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, राजसमंद राजेश चौधरी है।

SHARE