कुतिया ने 8 मासूमों के गाल-होंठ चबाए; निगम बोला- आज छुट्‌टी, कल पकड़ेंगे,अब कहाँ है प्रशासन


जोधपुर शहर में रविवार देर शाम पागल कुतिया के कुछ बच्चों को काटने की घटना की भास्कर ने तह तक जाकर पड़ताल की तो मासूमों की बेहद मार्मिक हालत सामने आई। साथ ही कई सरकारीकर्मियों की गंभीर लापरवाहियांे और सरकारी अस्पतालों में संसाधनों के हालातों का भी खुलासा हुआ।

एयरफोर्स के विद्यानगर व अरविंद नगर में अपने आठ बच्चों के मरने से पागल हुई कुतिया ने रविवार काे 1 घंटे में 12 लोगों को शिकार बना डाला। इसमें 8 मासूम बच्चे भी हैं, जिनकी उम्र 4-7 साल है। कुतिया ने तीन बुजुर्ग और एक युवक को भी बेरहमी से काट खाया। एक मासूम बच्ची के मुंह, होंठ और गालों को कुतिया ने पूरी तरह नोंच लिया। बच्ची की गर्भवती मां भी कुतिया का शिकार होते बच गई। सामने जो भी आया, कुतिया ने उसे शिकार बनाया और पीछे दौड़ती रही। लाेग पीछे डंडे लेकर भी दौड़े, लेकिन वो हाथ नहीं आई।

बाद में रविवार देर रात एयरफोर्स एरिया में कुतिया का शव मिला। घटना के दौरान जब पार्षद प्रदीप बेनीवाल व स्थानीय लोगों ने नगर निगम की कुत्ता पकड़ने वाली गैंग को कॉल किया तो गैंग के लोग बोले- आज छुट्टी है। कुतिया को कल पकड़ेंगे। मेयर बोले- गैंग भेज रहे हैं। इस बीच कुतिया का आतंक पूरे क्षेत्र में फैल गया। घायल लोगों को एमजीएच ले गए तो वहां एंटी रेबीज इंजेक्शन ही नहीं मिला। वहां कार्यरत मेडिकल स्टाफ ने भी अगले दिन आने का कहा। इसके बाद घायलों को लेकर उनके रिश्तेदार प्राइवेट अस्पताल में गए और एंटी रेबीज इंजेक्शन लगवा इलाज शुरू करवाया।

निगम टीम ने खानापूर्ति करनी चाही तो श्वानप्रेमियों ने पकड़ने नहीं दिया: दहशत बने श्वान को पकड़ने सोमवार सुबह नगर निगम की टीम पहुंची। टीम ने दो श्वान पकड़े ही थे कि कुछ महिलाएं इसका विरोध करने लगीं। वे बोलीं- ये इन जीवों के साथ अत्याचार है। विरोध पर निगम की टीम चली गई।

मासूम को आठ टांके आए

केजी में पढ़ने वाली 4 साल की सौम्या राजपाल। वह मम्मी के साथ घर के पोर्च में बैठी थी, तभी कुतिया आई और सौम्या के होंठ जबड़े में पकड़ लिए। मासूम छटपटाती रही। आठ माह की गर्भवती सौम्या की मां ने उसे जैसे-तैसे बचाया। इस बीच कुतिया मासूम के कान के पास का हिस्सा फिर ललाट काे चमड़ी सहित खा गई। हॉस्पिटल में उसके 8 टांके आए। होंठ, जबड़ा और चेहरा नोंचने से मासूम बच्ची दो दिन से ना तो खाना खा पा रही है और ना ही बोल पा रही है।

अन्वय को सिर से घसीटा, खाल-बाल उखड़े

दादा यातराम शर्मा के साथ पोर्च में खेल रहे 4 साल के अन्वय शर्मा पर कुतिया ने एकाएक हमला किया। मासूम के सिर को पकड़ लिया और बाल सहित चमड़ी उखाड़ दी। अन्वय ने बचने के लिए हाथ आगे किया तो कुतिया अंगुलिया चबा गई। कुतिया को भगाने के लिए लकड़ी लेकर दौड़े मनप्रीतसिंह के दोनों पैर को भी कुतिया ने जख्मी कर दिया। वहां खड़े दो अन्य बुजुर्गों को भी काट खाया।

इंजेक्शन नहीं होने का कोई मामला मेरी जानकारी में नहीं है। मैंने अभी पता कराया ताे डाॅक्टर ने बताया कि मरीज कि स्थिति गंभीर नहीं थी। मरीज काे एंटीबायटिक दवा लिखकर सुबह एअारवी क्लिनिक में आकर इंजेक्शन लगाने को कहा था। क्याेंकि शाम को एअारवी क्लिनिक नहीं खुली हाेती है। ओपीडी के समय ही एअारवी क्लिनिक खुलती है। वैसे इस तरह का कोई गंभीर मामला आता है तो पीएसएम के डॉक्टर को बुलाकर इलाज कराया जाता है। – डॉ.महेश भाटी, अधीक्षक, एमजीएच

^ निगम की श्वान पकड़ने वाली गैंग को फोन किया तो बोले कि आज छुट्टी है। महापौर को भी अवगत करवाया। उन्होंने टीम भेजने की बात कही, लेकिन सोमवार को टीम आई। -प्रदीप बेनीवाल, पार्षद

^ कल हमारे पास सिर्फ सूचना आई थी। कल संभव नहीं था। इसलिए हमने आज शहर व सूरसागर की दोनों टीम भेजकर कुछ श्वान को पकड़ा है। – सुगनदास, श्वान गैंग प्रभारी