भाजपा ने किया चूरू बंद का आवाहन, सुबह कई जगह नहीं खुले बाजार


फर्जी टीसी प्रकरण में जिला प्रमुख हरलाल सहारण की गिरफ्तारी के विरोध में मंगलवार को भाजपाइयों ने बंद का आवाहन किया। जिसका नेतृत्व खुद विधानसभा में प्रतिपक्ष के उपनेता राजेंद्र राठौड़ ने किया। लोकसभा चुनाव की मतगणना के चलते चूरू शहर में धारा 144 लागू होने के बावजूद भाजपा पदाधिकारियों व कार्यकर्ता बाजार पहुंचे। जहां बंद के चलते अधिकांश बाजार बंद रखे गए।

इससे पहले सोमवार को नागवाणों के नोहरे से कलेक्ट्रेट तक रैली निकाली और सरकार के खिलाफ नारेबाजी व प्रदर्शन किया। इस दौरान नागवाणों के नोहरे से भाजपा की रैली रवाना हुई। धारा 144 लागू होने के बावजूद पुलिस मूकदर्शक बनी रही। पुलिस अधिकारी व जवान रैली के आगे-आगे चलते रहे। रैली धर्मस्तूप, रेलवे स्टेशन और पुराना बस स्टैंड होते हुए पेट्रोल पंप के सामने पहुंचने पर विधायक राठौड़ ने माइक से कहा कि पुलिस ने उन्हें एवं सांसद कस्वा को धारा 144 के

उल्लंघन पर गिरफ्तार किया है, इस पर कार्यकर्ता भी गिरफ्तारी देने के लिए बसों में सवार हो गए।

दो बसों में ऊपर-नीचे बैठकर कार्यकर्ता पुलिस लाइन तक गए। अन्य कार्यकर्ता पैदल ही गिरफ्तारी देने पहुंचे। राठौड़ ने दावा किया है कि 8300 कार्यकर्ताओं ने गिरफ्तारी दी है, जबकि पुलिस का कहना है कि भाजपा के 1200 लोगों ने गिरफ्तारी दी है। गौरतलब है कि जनवरी 2019 में इस्तगासे के आधार पर कोतवाली में दर्ज मामले में सदर थाने की पुलिस ने जिला प्रमुख को रविवार को जयपुर के जालुपुरा में हिरासत में लिया था और सोमवार को गिरफ्तार कर पुलिस रिमांड पर लिया है।

क्या है मामला

फर्जी टीसी से चुनाव लड़ने के मामले में रविवार को चूरू जिला प्रमुख हरलाल सहारण को पुलिस की स्पेशल टीम ने जयपुर में हिरासत में ले लिया। पुलिस पिछले कुछ समय से तलाश कर रही थी। सदर एसएचओ के नेतृत्व में पुलिस की स्पेशल टीम ने जिला प्रमुख काे जयपुर के जालुपुरा से हिरासत में लिया था। बता दें कि जिला प्रमुख सहारण के खिलाफ दसवीं की फर्जी टीसी से 2015 में जिला परिषद सदस्य का चुनाव लड़ने का मामला पहले से ही हाईकोर्ट चल रहा है। इस मामले में ढाढ़र के पूर्व सरपंच चिमनाराम कालेर ने इस्तगासे के जरिए कोतवाली में मामला दर्ज कराया था।