सभी की जरूरतों का रखा ख्याल – मुख्यमंत्री



जयपुर। मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे से शुक्रवार को मुख्यमंत्री निवास पर विभिन्न संगठनों से जुड़े लोग मिले और राज्य बजट तथा विभिन्न अवसरों पर की गई कल्याणकारी घोषणाओं के लिए श्रीमती राजे का आभार व्यक्त किया। मुख्यमंत्री ने उन्हें संबोधित करते हुए कहा कि राज्य सरकार सभी वर्गों के कल्याण के लिए काम कर रही है। हमने सभी की जरूरतों का ख्याल रखते हुए ऎसे फैसले किए है जिससे लोगों के चेहरे पर मुस्कान आए।
होमगार्डों ने कहा- आज तक इतना मानदेय कभी नहीं बढ़ा

प्रदेश के विभिन्न जिलों से आए होमगार्डों ने अपने मानदेय में की गई ऎतिहासिक बढ़ोतरी के लिए मुख्यमंत्री का अभिनन्दन किया। राजस्थान होमगार्ड कर्मचारी संगठन के प्रदेशाध्यक्ष झलकन सिंह राठौड़ के नेतृत्व में आए इन होमगाडर््स ने कहा कि विभाग के गठन के बाद से पहली बार किसी सरकार ने होमगार्डों का इतना मानदेय बढ़ाया है। इससे पूरे प्रदेश के 30 हजार से अधिक होमगार्ड्स तथा उनके परिवारों में खुशी का माहौल है। उन्होंने कहा कि अन्य प्रदेशों की तुलना में भी राजस्थान में होमगार्डों का मानदेय अब बेहतर हो गया है। संगठन की विभिन्न जिला शाखाओं से आए पदाधिकारियों ने भी मालाएं पहनाकर मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया।

इलेक्ट्रोपैथी चिकित्सक औषधीय पौधे उगाने के लिए किसानों को प्रेरित करें
श्रीमती राजे ने राजस्थान इलेक्ट्रोपैथी चिकित्सा पद्धति को मान्यता देने पर आभार व्यक्त करने आए इलेक्ट्रोपैथी चिकित्सकों से कहा कि वे औषधीय पौधों को उगाने के लिए किसानों को प्रेरित करें। उन्होंने कहा कि इससे किसानों को बड़ा लाभ तो मिलेगा ही साथ ही इलेक्ट्रोपैथी चिकित्सा के लिए पौधों की सहज उपलब्धता भी हो सकेगी। इलेक्ट्रो हौम्योपैथी चिकित्सक परिषद के अध्यक्ष डॉ. हेमन्त सेठिया ने बताया कि राजस्थान देश का पहला राज्य है जिसने इस चिकित्सा पद्धति को मान्यता दी है। प्रदेश के सभी जिलों से आए इलेक्ट्रोपैथी चिकित्सकों ने  श्रीमती राजे का धन्यवाद ज्ञापित किया। इस अवसर पर विधायक श्री मोहनलाल गुप्ता भी मौजूद थे।

बीमार गायों की सेवा के लिए एम्बुलेंस को किया रवाना
मुख्यमंत्री ने विश्व स्तरीय गौ चिकित्सालय, नागौर द्वारा बीमार गायों की सेवा के लिए एम्बुलेंस को फीता काटकर रवाना किया। श्रीमती राजे ने कहा कि बीमार गौधन की सेवा पुण्य का काम है। इस कार्य में अन्य सेवाभावी संगठनों को भी आगे आना चाहिए। कृषि मंत्री श्री प्रभुलाल सैनी भी इस अवसर पर उपस्थित थे।