CBSE पेपर लीक: गूगल ने मुहैया कराया लीक की सूचना देने वाले का ई-मेल



गूगल ने दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच को वह ई-मेल एड्रेस मुहैया करा दिया है, जिससे सीबीएसई अध्यक्ष को दसवीं की मैथ्स पेपर लीक की जानकारी दी गई थी. हालांकि इस बारे में और ज्यादा जानकारी नहीं दी गई. इस बीच इस मामले में 60 लोगों से पूछताछ हो चुकी है. तीन लोग गिरफ्तार किए गए है. अभिभावकों में इसे लेकर बेहद नाराजगी है

सोशल मीडिया पर वायरल हिंदी का पर्चा फेक : सीबीएसई

सीबीएसई ने कहा है व्हाट्स एप, यूट्यूब जैसे सोशल मीडिया पर 12वीं क्लास के हिंदी (इलेक्टिव) का जो पर्चा वायरल हो रहा वह फेक है. बोर्ड ने कहा है लोगों को इस पर ध्यान नहीं देना चाहिए. कुछ लोग अफवाह फैला रहे हैं.

पॉलिटकल साइंस का पेपर भी लीक होने का दावा

पेपर लीक मामले के व्हिस्लब्लोओर ने दावा किया है सीबीएसई की 12वीं के पॉलिटिकल साइंस का पर्चा भी लीक हुआ है. वह यूट्यूब के जरिये पेपर लीक करने वाले इस शख्स के संपर्क में आया था. व्हीसल ब्लोअर का दावा है कि उसने इस बारे में 17 मार्च को सीबीएसई, पीएम और पुलिस को अलर्ट कर दिया था लेकिन कोई कदम नहीं उठाया गया. उसने कहा कि वह सौ फीसदी निश्चित है कि पॉलिटिकल साइंस का पेपर भी लीक हुआ था

सीबीएसई पेपर लीक मामले में पुलिस ने 3 लोगों को गिरफ्तार किया है. सीबीएसई पेपर लीक के तार बिहार से भी जुड़ने लगे हैं. पटना के कुछ कोचिंग इंस्टीट्यूट भी पुलिस के राडार पर है. इसके अलावा झारखंड से नौ नाबालिगों को जुवेनाइल एक्ट के तहत हिरासत में लिया गया है.