केंद्र व प्रदेश सरकार की नीति किसान विरोधी : अखिलेश


अखिलेश ने प्रदेश कार्यालय में पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह जी की 115वीं जयंती पर उनके चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित की। उन्होंने कहा कि चौधरी साहब ने आजीवन किसानों के हितों की लड़ाई लड़ी। खेत-खलिहान की समस्याओं का निस्तारण करते हुए गांव को समृद्ध बनाने के लिए उनके योगदान को भुलाया नहीं जा सकता है।

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, “आज परिस्थितियां बदल गई हैं, बावजूद इसके किसानों की समस्याओं के निदान की दिशा में पर्याप्त निर्णय नहीं हो सके। पिछली समाजवादी सरकार में चौधरी साहब के दिखाए रास्ते पर चलते हुए हम समाजवादियों ने उप्र बजट को किसान केंद्रित बनाने का काम किया था।”

अखिलेश ने कहा कि केंद्र और राज्य की भाजपा सरकारों की नीति किसान विरोधी है। उप्र में चुनावों के दौरान भाजपा ने अपने संकल्प पत्र में किसानों के लिए जो वादे किए थे वे सभी धोखे के शिकार हो गए हैं।

उन्होंने कहा, “चौधरी साहब के जन्मदिवस पर हम समाजवादियों को गरीबों, किसानों, बेरोजगारों के हितों की लड़ाई लड़ने और किसानों को सम्मान और खुशहाली दिलाने के लिए आगे आना होगा। यही चौधरी चरण सिंह के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि है।”

इस अवसर पर राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं सांसद किरनमय नंदा, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष माता प्रसाद पांडेय, नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी, प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल सहित कई उपस्थित रहे।