उच्च शिक्षा मंत्री व धरोहर प्राधिकरण अध्यक्ष ने राजसमन्द में किया 



जयपुर। उच्च शिक्षा मंत्री श्रीमती किरण माहेश्वरी ने राजस्थान धरोहर संरक्षण  एवं प्रोन्नति प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री ओंकारसिंह लखावत के साथ राजसमन्द झील की नौ चौकी पाल पर महल में प्राधिकरण की ओर से बनाए जा रहे महाराणा राजसिंह पेनोरमा के कार्योे का अवलोकन किया। उन्होंने पेनोरमा को सुन्दर, आकर्षक एवं मेवाड़ी संस्कृति की झलक के रूप में बनाने के निर्देश दिये।
श्रीमती माहेश्वरी एवं श्री लखावत ने पेनोरमा के लिये चल रहे कामों का बारीकी से अवलोकन किया एवं उपस्थित अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। उन्होंने पेनोरमा में महाराणा कुम्भा, सांगा, प्रताप आदि की वंशावली का अंकन करने, मनोहारी रंग-रोगन व सुदर्शन चित्रकारी आदि के लिये निर्देश दिये।
राजस्थान धरोहर संरक्षण एवं प्रोन्नति प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री ओंकार सिंह लखावत ने बताया कि महाराणा राजसिंह से संबंधित बनने वाले पेनोरमा में धर्म, त्याग, राष्ट्र सेवा के बिम्बों को बखूबी दर्शाया जायेगा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे की मंशा है कि महापुरुषों से जुडे़ हुए ऎतिहासिक स्थलों का विकास एवं उन्हें संरक्षित किया जाए। इसी के अनुरूप राजस्थान में पेनोरमा निर्माण की अनवरत श्रृंखला जारी है।  उन्होंने बताया की पेनोरमा के टू डी, थ्री डी को प्रिंट माध्यम से दर्शाया जायेगा।
उच्च शिक्षा मंत्री श्रीमती माहेश्वरी व प्रोन्नति प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री लखावत ने मूर्तियों का अवलोकन भी किया। इस अवसर पर धरोहर संरक्षण एवं प्रोन्नति प्राधिकरण के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री टी. सी. बोहरा,  नगर परिषद के सभापति श्री सुरेश पालीवाल सहित समाजसेवी अन्य अधिकारी व गणमान्यजन  साथ थे।