रात 3 बजे से सुबह तक चली अतिक्रमण के खिलाफ नगर परिषद की कार्रवाई


अलवर नगर परिषद की ओर से शहर के बाजारों को अतिक्रमण मुक्त करने के लिए देर रात 3 बजे कार्रवाई शुरू की गई जो सुबह तक चली। यह कार्रवाई नगर परिषद आयुक्त फतेह सिंह मीणा के नेतृत्व में की गई। उन्होंने बताया कि जिला कलेक्टर के आदेश पर आमजन को परेशानी नहीं हो इसलिए शहर के मुख्य बाजारों से अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की गई है। व्यापारियों को इसकी जानकारी पहले ही दे दी गई थी। व्यापारियों से अपील की गई थी या तो वे स्वयं अतिक्रमण हटा ले नहीं तो निश्चित तिथि के पश्चात नगर परिषद इस पर कार्रवाई करेगी। इसके लिए उन्हें जुर्माना भी भरना पड़ेगा। देर रात से अब तक मुख्य बाजारों के स्थाई व अस्थाई अतिक्रमण को हटा दिया गया है। इस दौरान अतिरिक्त जिला कलेक्टर उत्तम सिंह सहित नगर परिषद के अधिकारी व कर्मचारी व पुलिस दल का जाब्ता तैनात रहा।

इन बाजारों से हटाया अतिक्रमण

शहर के पंसारी बाजार, होप सर्कस, घंटाघर, तिलक मार्केट, वीरचौक, बजाजा बाजार में दुकानदारों द्वारा स्थाई व अस्थाई रूप से किए गए  दुकानों के आगे किए गए अतिक्रमण को नगर परिषद के दल ने हटाया।

आमजन ने इस कदम का स्वागत किया वहीं व्यापारियों में आक्रोश

नगर परिषद द्वारा बाजार में से हटाए गए अतिक्रमण के कार्य को आमजन ने सराहा इससे बाजार के रास्ते चौड़े हो गए। इससे यातायात भी सुगम रहेगा। वहीं इस कार्रवाई के बाद व्यापारियों में नगर परिषद के प्रति आक्रोश देखने को मिला व्यापारियों ने अनेक जगह नगर परिषद दल से नोकझोंक की। लेकिन भारी पुलिस बल के होते हुए अतिक्रमण हटा दिया गया।

ठेली पटरी वालों पर आया संकट

नगर परिषद के इस कार्रवाई से ठेली पटरी वालों पर संकट आ गया। जो दुकानों के आगे ठेली पटरी लगाकर अपना जीवन यापन करते थे अतिक्रमण हटाने के बाद अब उन्हें उस स्थान पर खड़े नहीं होने दिया जाएगा ऐसे में उनकी रोजी-रोटी पर संकट आ गया।

यातायात व्यवस्था होगी सुगम

बाजारों से अतिक्रमण हटने के बाद अब वाहन की यातायात व्यवस्था सुगंध होगी क्योंकि दुकानदारों द्वारा दुकानों के आगे स्थाई रूप से निर्माण कर रखा था जिस कारण आए दिन बाजार में जाम की स्थिति बनी रहती थी विभिन्न संगठनों की शिकायतों के बाद व्यायाम दिन की परेशानी को देखते हुए प्रशासन में अतिक्रमण करने वालों के खिलाफ कार्रवाई का कदम उठाया।