कांग्रेस आम लोगों का डेटा चुराकर भेजती है सिंगापुर : अमित मालवीय



नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और कांग्रेस के बीच डेटा लीक पर आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है। भाजपा ने सोमवार को एक बार फिर हमला बोलते हुए कहा है कि कांग्रेस आम लोगों को व्यक्तिगत जानकारी (डेटा) चुराकर सिंगापुर भेज देती है।
भाजपा की आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने सोमवार को ट्वीट संदेश में, ‘नमस्ते! मेरा नाम राहुल गांधी है। मैं भारत की सबसे पुरानी राजनीतिक पार्टी का अध्यक्ष हूं। जब आप हमारे आधिकारिक एप के लिए साइन अप करते हैं, तो मैं आपका सारा डेटा सिंगापुर में अपने दोस्तों को दे देता हूं।’

उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा कि कांग्रेस को शाबासी कि अगर इसे कोई अपना व्यक्तिगत जानकारी दे तो यह उसे किसी अज्ञात व्यक्ति, वॉलंटियर, समान उद्देश्य वाले लोग या डाटा चोरी करने वाले किसी भी व्यक्ति को दे सकती है। कांग्रेस का चेहरा कभी साफ नहीं रहा है।
अमित मालवीय ने कहा कि जब कांग्रेस कहती है कि वह आपका डेटा समान विचारधारा वाले समूहों के साथ साझा करेंगे, तो निहितार्थ गंभीर हैं क्योंकि ऐसे में यह डेटा माओवादियों, पत्थरबाजों, भारत के टुकड़े गैंग, कैम्ब्रिज एनालिटिका और चीनी दूतावास तक पहुंच सकता है।
उन्होंने डेटा लीक पर राहुल गांधी के बाद सोनिया गांधी को निशाने पर लेते हुए कहा कि ‘सभी शक्तियां, कोई जवाबदेही नहीं’ के सिद्धांत पर चलने वाली कांग्रेस आपके सभी आंकड़े लेगी, यहां तक कि कैम्ब्रिज एनालिटिका जैसे संगठनों के साथ दुनियाभर में साझा करेगी, लेकिन इसकी जिम्मेदारी नहीं लेगी! उनकी अपनी नीति कहती है।

इस बीच ‘डेटा चोर कांग्रेस’ ट्विटर पर पहले स्थान पर ट्रेंड करने लगा। ऐसे में केंद्रीय कपड़ा एवं सूचना तथा प्रसारण मंत्री स्मृति जुबिन ईरानी ने चुटकी लेते हुए ट्वीट किया, ये क्या राहुल गांधी जी, ऐसा लगता है कि आपकी टीम आपके आदेश के विपरीत काम कर रही है। डिलीट नमो एप के स्थान पर उन्होंने कांग्रेस एप ही स्वयं डिलीट कर दिया।
केंद्रीय मंत्री विजय गोयल ने कहा कि कांग्रेस के एप से डेटा सिंगापुर भेजा जा रहा है इस बात के खुलासे के बाद डेटा चोर कांग्रेस ने अपने आधिकारिक मोबाइल फोन एप्लीकेशन को गूगल के प्ले स्टोर से हटा लिया है।