कांग्रेस नेता व पूर्व नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी की सुरक्षा को लेकर खड़ा हुआ विवाद


 प्रदेश में कानून व्यवस्था को लेकर सरकार और पुलिस  को न केवल विपक्ष बल्कि कांंग्रेस के नेता भी सवाल खड़ा करने लगे हैं। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष और उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के बाद पार्टी के नेता व पूर्व नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी ने अपनी ही सरकार पर कानून व्यवस्था को लेकर सवाल खड़े कर दिए है।

उन्होंने कहा है कि मैंने 8 दिन पहले ही डीजीपी और सीएम को पत्र भी लिखा था कि मेरी जान की जिम्मेदारी सरकार की है लेकिन इतना गंभीर मामला होने के बाद भी पुलिस स्वेच्छाचारिता दिखा रही है। और अभी तक मेरी सुरक्षा को लेकर सरकार और पुलिस की ओर से कोई कदम नहीं उठाया गया है।

पुलिस महानिदेशक भूपेन्द्र सिंह ने का कहना है कि डूडी की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। हत्या करने के लिए सुपारी लेने वाले मामले की जांच एसअाेजी काे साैंपी है। गौरतलब है कि हरियाणा पुलिस ने गत दिनाें बदमाशाें काे गिरफ्तार कर उनके पास से हथियार बरामद किए थे। पूछताछ में बदमाशाें ने पूर्व प्रतिपक्ष नेता रामेश्वर डूडी की हत्या करने की सुपारी लेने की बात कही थी।

पूर्व नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी ने कहा कि अभी तक सुरक्षा नहीं दी गई है। लोग मेरी हत्या के पीछे पड़े हैं। मैंने 8 दिन पहले ही डीजीपी और सीएम को पत्र लिखा था कि मेरी जान की जिम्मेदारी सरकार की है लेकिन पुलिस स्वेच्छाचारिता दिखा रही है। प्रदेश की कानून व्यवस्था के बारे में आप जानते ही है। लोगों को सुरक्षित महसूस करना चाहिए जो नहीं हो रहा है।
जयपुर डीजीपी भूपेन्द्र सिंह ने कहा कि रामेश्वर डूडी काे गत दिनाें धमकी मिली थी। इसके बाद उनकी सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी है। मामले की जांच एसअाेजी काे साैंपी है। राज्य सरकार ने डूडी की सुरक्षा में एक पीएसअाे लगा दिया था। अब दाे पीएसअाे अाैर लगाए गए हैं। साथ ही वाई कैटेगिरी की सुरक्षा जल्द उपलब्ध कराई जाएगी।