लोकसभा उपचुनावों में संख्या बल घटने के बावजूद भाजपा के पास सदन में 272 सीटों का बहुमत



लोकसभा उपचुनावों में अपनी तीन में से एक सीट बरकरार रखने वाली भाजपा के पास संसद के 539 सदस्यीय निम्न सदन में 272 सीटों का क्षीण बहुमत रह गया है। लोकसभा में 543 निर्वाचित सदस्य होते हैं, किंतु इसकी चार सीटों का कोई प्रतिनिधित्व नहीं है।

कर्नाटक के तीन सदस्य त्यागपत्र दे चुके हैं, जबकि कश्मीर की अनंतनाग सीट खाली पड़ी है। अनंतनाग सीट के लिए पिछले साल मई में होने जा रहे उपचुनाव को टाल दिया गया था। इसके कारण बहुमत के लिए संख्याबल घटकर 270 रह गया है। व्यावहारिक रूप से देखें तो भाजपा के पास 274 सदस्यों का संख्या बल है क्योंकि दोनों मनोनीत सदस्य भी उसी से संबंधित हैं।

भाजपा ने 2014 लोकसभा चुनाव में 282 सीटें जीती थीं किंतु उत्तर प्रदेश, राजस्थान एवं छत्तीसगढ़ सहित विभिन्न उपचुनावों के बाद इसकी सीटों में कमी आई है। बहरहाल, इससे सरकार पर बहुत मामूली असर पड़ेगा, क्योंकि भाजपा नीत एनडीए के पास 315 सीटें हैं। चार लोकसभा सीटों के लिए 28 मई को उपचुनाव हुए थे। आम चुनाव में भाजपा ने इनमें से तीन जीती थीं। किंतु उपचुनाव में वह अपनी एक ही सीट बरकरार रख पाई।

कौन कहां से जीता

पालघर: भाजपा के राजेंद्र गावित जीते

महाराष्ट्र की पालघर सीट पर त्रिकोणीय मुकाबले में भाजपा के राजेंद्र गावित ने जीत दर्ज की। उन्होंने शिवसेना के प्रत्याशी श्रीनिवास वनगा को 29,572 वोटों से हराया। भाजपा को 2,72,782 मत मिले। वहीं शिवसेना को 2,43,210 मत मिले। पालघर में त्रिकोणी मुकाबला देखने को मिला। यहां 2,22,838 मत पाकर बहुजन विकास अगाडी के बलिराम जाधव तीसरे स्थान पर रहे। भाजपा सांसद चिंतामण वनगा के निधन के कारण इस सीट पर उपचुनाव हुआ था। भाजपा ने इस सीट ने जब राजेंद्र गावित को टिकट दिया तो शिवसेना ने बड़ा दांव चलते हुए दिवंत सांसद वनगा के बेटे को श्रीनिवास को अपना प्रत्याशी घोषित कर दिया।

भंडारा गोंदिया : एनसीपी के मधुकर जीते

महाराष्ट्र के विदर्भ क्षेत्र की भंडारा-गोंदिया लोकसभा सीट पर इस बार एनसीपी ने बाजी मारी है। यहां एनसीपी के मधुकर कुकड़े ने भाजपा के हेमंत पटोले को 48,097 मतों के अंतर से हराया। एनसीपी को 4,42,216 मत मिले। वहीं भाजपा को 3,94,116 मत मिले। यह सीट भाजपा सांसद नाना पटोले के इस्तीफा देने के कारण खाली हुई थी। पटोले केंद्र सरकार की नीतियों से नाराज होकर इस्तीफा दिया था।

नगालैंड: एनडीपीपी के तोखेहो जीते

भाजपा समर्थित नेशनलिस्ट डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी (एनडीपीपी) उम्मीदवार ने नगालैंड सीट से जीत दर्ज की। तोखेहो येपथेमी 1,73,746 मतों के अंतर से बड़ी जीत हासिल की है। एनडीपीपी को कुल 5,94,205 और एनपीएफ के उम्मीदवार अपोक जमीर को 4,20,459 वोट मिले, जबकि नोटा के पक्ष में 3,991 वोट मिले। भाजपा ने उपचुनाव में एनडीपीपी को और कांग्रेस एनपीएफ को समर्थन किया था। यह नगालैंड राज्य की एकमात्र लोकसभा सीट है। यह सीट एनडीपीपी सांसद नेफियो रियो के इस्तीफा से खाली हुई थी।

कैराना : रालोद की तबस्सुम जीतीं

पश्चिमी उत्तर प्रदेश कैराना लोकसभा सीट से रालोद की तबस्सुम हसन ने जीत दर्ज की। यहां आरएलडी को 4,81,182 वोट मिले, जबकि भाजपा को 4,36,564 मत मिले। 44,618 वोटों के अंतर से तबस्सुम ने जीत दर्ज की। उन्हें सपा, बसपा, कांग्रेस का समर्थन प्राप्त था। कैराना से भाजपा ने से पूर्व सांसद हुकुम सिंह की बेटी मृगांका सिंह को मैदान में उतारा था। यह सीट हुकुम सिंह के निधन से खाली हुई थी।