धोनी की तुरंत संन्यास लेने की कोई योजना नहीं, उनके दोस्त ने रिटायरमेंट की अटकलों को खारिज किया


भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और क्रिकेट जगत में कैप्टन कूल के नाम से मशहूर महेंद्र सिंह धोनी के रिटायरमेंट को लेकर कयासों का बाजार गर्म है। इस बीच माही के पुराने दोस्त और उनकी स्पोर्ट्स कंपनी के मैनेजर अरुण पांडे ने कहा- अभी धोनी का रिटायर होने का कोई प्लान नहीं है। इतने बड़े खिलाड़ी के भविष्य को लेकर इस तरह के कयास लगाना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है।

दरअसल, विश्वकप सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के हाथों भारतीय क्रिकेट टीम की हार से खेल जगत में धोनी के रिटायरमेंट का मुद्दा छा गया था। पांडे का यह बयान ठीक ऐसे समय आया है, जब रविवार को भारतीय क्रिकेट टीम का चयन वेस्डइंडीज दौरे के लिए किया जाना है।

धोनी की स्पोर्ट्स कंपनी का काम संभालते हैं पांडे

रिपोर्ट के अनुसार एक बार धोनी का स्थिति स्पष्ट होने के बाद भारतीय टीम का चयन हो जाएगा। वेस्टइंडीज दौरा 3 अगस्त से शुरू होना है। माना जा रहा है कि बीसीसीआई जल्द ही एमएस से इस बारे में बात करेगी। पांडे, धोनी के साथ लंबे समय से जुड़े हुए हैं। वे उनकी स्पोर्ट्स मैनेजमेंट कंपनी का काम भी संभालते हैं।

धोनी ने आईसीसी के बड़े टूर्नामेंटों में भारत को जीत दिलाई

धोनी ने अपनी कप्तानी में भारतीय क्रिकेट टीम को आईसीसी के बड़े टूर्नामेंटों में जीत दिलवाई। इनमें विश्वकप, टी-20 विश्वकप और चैंपियंस ट्राफी शामिल है। धोनी ने पिछली पारी सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के खिलाफ खेली थी। इसमें उन्होंने 50 रन बनाए थे। इस पारी को सराहा गया था। हालांकि भारत यह मैच हार गया। मार्टिन गप्टिल के सीधे थ्रो से धोनी रन आउट हो गए थे। भारत का विश्वकप का सफर समाप्त हो गया था।

धोनी ने भारत के लिए 350 वनडे खेले
इससे पहले धोनी और रवींद्र जडेजा ने 116 रनों की साझेदारी कर भारतीय प्रशंसकों के बीच एक बार फिर उम्मीद जगाई थी। भारत इस मैच में 240 रनों के लक्ष्य का पीछा कर रहा था। धोनी ने भारत के लिए 350 वनडे, 90 टेस्ट, 98 टी-20 इंटरनेशनल मैच खेले हैं। उन्होंने 10,773 रन बनाए हैं। इस दौरान उनका औसत 50 से ज्यादा रहा। टेस्ट मैचों में धोनी ने 38.09 की औसत से 4876 रन बनाए हैं।