चेन्नई के रंग में रंगने उतरेंगे धोनी



चेन्नई सुपरकिंग्स विवादों के चलते अपना घर बदल जाने के बाद शुक्रवार को नये घरेलू मैदान पुणे में राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ पहले मुकाबले के लिये उतरेगी जहां कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के लिये टीम का विजयी आगाज़ चुनौती होगा।

आईपीएल ट्वंटी 20 का दो बार खिताब जीत चुकी चेन्नई तीन मैचों में दो जीत और एक हार के बाद चौथे नंबर पर है। लेकिन चेन्नई का घरेलू मैदान बदल जाने से टीम के सामने अब पुणे में घरेलू मैचों को खेलना और यहां की नयी परिस्थितियों के अनुकूल खुद को ढालना एक और चुनौती की तरह है।

भ्रष्टाचार विवाद के कारण दो वर्ष के निलंबन के बाद टूर्नामेंट में वापसी कर रही चेन्नई सुपरकिंग्स ने 11वें संस्करण में एकमात्र मैच ही घरेलू चेपौक स्टेडियम में खेला और राज्य में कावेरी विवाद के कारण अब बाकी के सभी घरेलू मैच वह पुणे में ही खेलेगी। हालांकि एक बात अच्छी है कि उसे पुणे में भी अपने घरेलू समर्थकों की कमी महसूस नहीं होगी जो अपना सारा कामकाज छोड़कर बड़ी तादाद में चौथे मैच के लिये मौजूद रहेंगे।

चेन्नई सुपरकिंग्स के करीब 1000 प्रशंसकों की येलो ब्रिगेड ट्रेन से पुणे पहुंच रही है और पुणे को अपने रंग में रंगने के लिये तैयार है। प्रशंसक अपनी जिम्मेदारी निभाने के लिये तो तैयार हैं लेकिन अब जिम्मेदारी कप्तान धोनी और उनकी टीम की रहेगी कि वे भी अपने प्रदर्शन से संतुष्ट करें जिन्हें अपने पिछले मैच में किंग्स इलेवन पंजाब के हाथों करीबी मैच में चार रन से हार झेलनी पड़ी थी।