दिग्विजय ने कहा- मोदी सरकार को एहसास भी नहीं है कि देश किस भयानक मंदी से गुजर रहा


रिजर्व बैंक ने बिमल जालान कमेटी की सिफारिशें मानते हुए कैश सरप्लस में से 1.76 लाख करोड़ रुपए सरकार को ट्रांसफर करने की सोमवार को मंजूरी दी। इस पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी के बाद अब पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोला है। उन्होंने बुधवार को कहा कि प्रधानमंत्री को अभी पता ही नहीं है कि देश किस भयानक मंदी का सामना कर रहा है।

दिग्विजय सिंह ने ट्वीट किया- ऐसे निर्णय आरबीआई द्वारा तब लिए जाते हैं, जब आपके पास गवर्नर के रूप में प्रख्यात अर्थशास्त्री नहीं होते हैं। हम कहां जा रहे हैं।

इसपर राहुल गांधी ने मंगलवार को कहा था कि प्रधानमंत्री और वित्त मंत्री आर्थिक संकट का समाधान नहीं ढूंढ़ पा रहे हैं। उन्होंने सरकार पर आरबीआई का धन हड़पने का आरोप भी लगाया। राहुल ने आरबीआई लूटेड हैशटैग का इस्तेमाल कर ट्वीट किया था- आरबीआई से धन हड़पने का तरीका काम नहीं आएगा। यह डिस्पेंसरी से बैंड-ऐड चुराकर गोली लगने से हुए घाव पर लगाने जैसा है।

कांग्रेस ने आरबीआई गवर्नर को फटकार लगाई थी

कांग्रेस ने 1.76 लाख करोड़ रुपए सरकार को ट्रांसफर करने के फैसले पर आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास को फटकार लगाई थी। कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था कि सरकार का आरबीआई से पैसा लेना अर्थव्यवस्था के संकट में होने की पुष्टि करता है। आरबीआई द्वारा अपने सरप्लस में से सरकार को इतनी राशि ट्रांसफर करना अप्रत्याशित फैसला है।

‘इस पर कोई फैसला नहीं लिया गया कि राशि का इस्तेमाल कैसे किया जाएगा’

राहुल के बयान के बाद मंगलवार को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा था कि जब राहुल गांधी चोर-चोर जैसी चीजें उठाते हैं, तब एक चीज मेरे दिमाग में आती है कि वे चोर-चोर कहने में बेहतरीन हैं। उन्होंने बताया कि अभी इस बात पर कोई फैसला नहीं लिया गया है कि आरबीआई से मिली राशि का इस्तेमाल किस तरह किया जाएगा।