भूलकर भी न करें खंडित मूर्ति की पूजा



अमूमन लोग अपने आराध्य की पूजा के लिए घर में एक छोटा सा मंदिर अवश्य बनवाते हैं और उसमें अपने इष्ट देव की मूर्ति भी अवश्य स्थापित करते हैं। उनकी स्थापना और पूजा घर में यकीनन सकारात्मकता लेकर आती है, लेकिन अगर वहीं मूर्ति खंडित हो जाए तो भूलकर भी उसकी पूजा नहीं करनी चाहिए। आईए जानते हैं इसके पीछे के रहस्य के बारे में-

हिंदू शास्त्रों की मान्यता के अनुसार किसी भी खंडित मूर्ति का पूजन अशुभ माना जाता है। माना जाता है कि जिस मूर्ति को हम पूजते हैं उसमें प्राण होते हैं इसलिए उनके टूटने के बाद प्राण चले जाते हैं और आराधना नहीं की जाती है।

वहीं वास्तु के अनुसार ऐसा माना जाता है कि खंडित मूर्ति घर में नकारात्मकता लेकर आती है और उसका पूजन किया जाए तो घर में अशांति का कारण बनती है।