इन वस्तुओं का दान करना अक्षय तृतीया के दिन शुभ रहता है



अक्षय तृतीया का दिन बहुत ही शुभ दिन माना जाता है। बैशाख की शुक्ल पक्ष की तृतीया के दिन अक्षय तृतीया का त्योहार मनाया जाता है। जैसा इसका नाम है अक्षय जिसका अर्थ जिसका कभी क्षय न हो या जो कभी नष्ट न हो। वैसे ही इस दिन सोना खरीदने से उसमें वृद्धि होती रहती है। 18 अप्रैल के दिन अक्षय तृतीया मनाई जाएगी। इस दिन किसी भी मांगलिक कार्य के लिये शुभ दिन माना जाता है। अक्षय तृतीया को अक्षय तीज या आखा तीज या तीजा इन नामों से भी जाना जाता है।

अक्षय तृतीया का शुभ योग 18 अप्रैल की सुबह 4:47 बजे से शुरू होकर अगले दिन सुबह 3:03 बजे तक रहेगा। अक्षय तृतीया में ठंडी चीजें जैसे जल से भरे घड़े, कुल्हड़, सकोरे, पंखे, खड़ाऊं, छाता, चावल, नमक, घी, खरबूजा, ककड़ी, चीनी, साग, इमली, सत्तू आदि का दान करना शुभ माना जाता है।

ज्योतिषियों के अनुसार इस दिन भाग्योदय के लिए आप शंख और मोरपंख भी खरीदना शुभ रहता हैं। अक्षय तृतीया के दिन अगर सोने-चांदी के आभूषण खरीदे हैं तो इन्हें लक्ष्मी पूजा में रखने के बाद ही तिजोरी में रखे।