प्राइवेट स्टूडेंट्स का परीक्षा शुल्क बढ़ा, देश के विद्यार्थियों का परीक्षा शुल्क 1500 रुपए किया


2019-20 के रेगुलर स्टूडेंट्स के परीक्षा शुल्क में वृद्धि के बाद अब सीबीएसई ने मेन एग्जाम में बतौर प्राइवेट विद्यार्थी प्रविष्ट होने वाले स्टूडेंट्स का भी परीक्षा शुल्क बढ़ा दिया है। देश के विद्यार्थियों से 600 रुपए बढ़ा कर 1500 रुपए परीक्षा शुल्क लिया जाएगा जबकि विदेशी विद्यार्थी से पांच हजार की जगह अब 10 हजार रुपए परीक्षा शुल्क लिया जाएगा। इसकी ऑनलाइन आवेदनन की प्रक्रिया शुरू हो गई है।

सीबीएसई ने परीक्षा शुल्क विवरण जारी किया है। इसके अनुसार वर्ष 2020 की मुख्य परीक्षा में 10वीं और 12वीं में प्राइवेट विद्यार्थी को 1500 रुपए परीक्षा शुल्क पांच विषयों का जमा करना है। देश के बाहर के विद्यार्थियों से 10 हजार रुपए शुल्क लिया जाएगा। साल 2019 की मुख्य परीक्षा के लिए सीबीएसई ने प्राइवेट विद्यार्थी से पांच विषयों के लिए 900 रुपए परीक्षा शुल्क लिया था। विदेशी विद्यार्थियों से पांच हजार रुपए लिए थे।

अतिरिक्त विषय का शुल्क भी बढ़ाया

पिछले साल सीबीएसई ने प्रति अतिरिक्त विषय का शुल्क 180 रुपए लिया था। इस बार यह बढ़ाकर 300 रुपए कर दिया है। विदेशी विद्यार्थी के लिए पिछली बार एक हजार रुपए था। इस बार इसे बढ़ाकर 2 हजार रुपए कर दिया गया है। श्रेणी सुधार के लिए बैठने वाले विद्यार्थी को भी प्रति विषय 300 रुपए देश में और विदेश में 2 हजार रुपए किए गए हैं। प्रायोगिक परीक्षा के लिए देश में 150 रुपए और विदेश में 350 रुपए कर दिया गया है।

30 सितंबर तक किए जा सकेंगे आवेद : सीबीएसई ने सामान्य परीक्षा शुल्क के साथ 30 सितंबर तक ऑनलाइन आवेदन का समय दिया गया है जबकि 2 हजार रुपए विलंब शुल्क के साथ एक से 15 अक्टूबर तक ऑनलाइन आवेदन किया जा सकेगा।