पीबीएम अस्पताल में हो रही अव्यवस्थाओं के खिलाफ प्रदर्शन



बीकानेर। संभाग के सबसे बड़े अस्पताल पीबीएम में हो रही अव्यवस्थाओं को लेकर शहर जिला महिला कांग्रेस अध्यक्ष सुनीता गौड़ के नेतृत्व में सरदार पटेल मेडिकल कॉलेज में पी.बी.एम प्रशाशन के खिलाफ प्रदर्शन कर जमकर नारेबाजी की गयी और मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य को ज्ञापन सौंपकर कहा की 10 दिनों में व्यवस्था में सुधार न होने पर धरने की चेतावनी दी। शहर जिला महिला कांग्रेस अध्यक्ष सुनीता गौड़ ने कहा की सरकार आमजन को अस्पतालों में सस्ता व् सहज सुलभ उपचार मुहैय्या करने का दावा कर रही है लेकिन मरीजों को सरकारी कल्याणकारी योजनाओं का पूरा लाभ नहीं मिल रहा है। सरकार की निशुल्क जांच एवं दवा योजना के बावजूद संभाग के सबसे बड़े अस्पताल पी. बी.एम् में मरीजो की जाँचे तक बाहर से करवानी पड़ रही है। साथ ही योजनाओं के पात्र होने के बावजूद मरीजो को बाहर से दवा खरीदनी पड़ रही है ऐसे में मरीज पर आर्थिक बोझ पड़ रहा है।
श्रीमती गौड़ ने पी.बी.एम प्रशाशन पर आरोप लगाते हुए कहा की भामाशा कार्ड धारकों को भामाशा स्वस्थ्य बिमा योजना से सम्बन्धित विभिन्न योजनाओ का लाभ नहीं मिल रहा है। जननी शिशु सुरक्षा योजना के तहत मिलने वाली राशि भी 2000 से अधिक प्रस्तुताओ को नहीं मिल रही है।
उन्होंने प्राचार्य आर.पी अग्रवाल को आड़े हाथ लेते हुए कहा की जनाना अस्पताल में एक बेड पर दो से तीन महिलाओं को रखा जा रहा है। मरीजों को बेड की सुविधा तक नहीं मिल पा रही है। सोनोग्राफी के लिए मरीजो को एक माह तक इंतज़ार करना पड़ रहा है वहीँ एम्.आर.आई एवं सिटी स्कैन के लिए एक एक सप्ताह में नंबर आ रहा है, मरीजों को स्वास्थय से सम्बंधित जाँचे भी बाहर से कराने को मजबूर करा जा रहा है। उन्होंने कान नाक गला विभाग ,  ट्रोमा सेंटर , मर्दाना विभाग और चर्म रोग विभाग के चिकित्सकों को अस्पताल में समय पर न आने, ज्यादा समय न रुकने के साथ ही अस्पताल में सिर्फ खानापूर्ति करने के आरोप लगाये और अपने निवास स्थान पर अस्पताल के मरीजो को देखकर मोटी रकम वसूलने का आरोप लगाया। अस्पताल में नियमित साफ सफाई करवाने की मांग की है।
इस अवसर पर बीकानेर प्रभारी सरोज सरगरा,महिला कांग्रेस प्रदेश उपाध्यक्ष सरस्वती लेघा,महिला कांग्रेस शहर उपाध्यक्ष मनभरी,पश्चिम बी-ब्लाक अध्यक्ष मुमताज शेख,विमला फौगा, सरला गोयल,जशोदा पांडुई,रामेश्वरी बिश्नोई,कमली बानो,वसिरण सहित बड़ी संख्या में महिलाओ ने विरोध प्रदर्शन किया।