फेसबुक ने रोका अपना बड़ा प्रोजेक्ट



जिस तरह से कैंब्रिज अनालिटिका ने फेसबुक के कथित डेटा लीक का खुलासा किया है, उसके बाद अब फेसबुक किसी भी तरह का जोखिम अपनी विश्वसनीयता को लेकर नहीं उठाना चाहता है। इसी के चलते फेसबुक ने अमेरिका स्थित तमाम अस्पतालों में मरीजों के बारे में जानकारी हासिल करने के अपने प्रोजेक्ट को रोक दिया है। सीएनबीसी की रिपोर्ट के अनुसार फेसबुक ने इस बात की योजना बनाई थी कि वह तमाम मरीजों की प्रोफाइल बनाएगा और जिन अस्पतालों में यह मरीज भर्ती हैं उनकी मदद करेगा। ।

रिपोर्ट के अनुसार फेसबुक प्रवक्ता ने बताया कि इस काम को शुरू नहीं किया गया है, हमने किसी के भी डेटा को इसमे नहीं शामिल किया है और ना ही इसे किसी के साथ विश्लेषण के लिए साझा किया है। आपको बता दें कि फेसबुक ने बयान जारी करके कहा था कि पिछले वर्ष फेसबुक ने बड़े मेडिकल संस्थान से चर्चा शुरू की है, ताकिक वहां वहां के लोगों की जानकारी हासिल करके फेसबुक इन लोगों को अधिक बेहतर सुविधा मुहैया करा सके।

 

लेकिन जिस तरह से फेसबुक के डेटा लीक की खबर हाल ही में सामने आई है उसने फेसबुक को अपने इस प्रोजेक्ट से पीछे हटने के लिए मजबूर कर दिया। हालांकि का कहना है कि यह प्रोजेक्ट किसी व्यक्ति को मदद नहीं करेगा। बल्कि यह मेडिकल फील्ड से जुड़े लोगों को सामान्य तौर पर एक दूसरे से जुड़ने में मदद करेगा, ताकि मरीज और डॉक्टर एक दूसरे से संपर्क स्थापित कर सके।

 

गौरतलब है कि फेसबुक ने खुद इस बात को स्वीकार किया है कि मुमकिन है कि 8.7 करोड़ फेसबुक यूजर्स की जानकारी मुख्य रूप से अमेरिका के लोगों की जानकारी ब्रिटेन की कंपनी कैंम्ब्रिज अनालिटिका के साथ साझा हुई है हो। इसमे 5.6 लाख भारतीय यूजर्स की भी जानकारी लीक हुई है, इसे एक प्राइवेट कंपननी को लीक किया गया है। इस जानकारी को कैम्ब्रिज अनालिटिका के क्विक एप के जरिए लीक किया गया है।