5 दिन पहले नाबालिग बेटी से छेड़छाड़ का केस दर्ज कराने वाले पिता की संदिग्ध हालात में मौत


लूणी के करनियाली गांव में रहने वाले एक बुजुर्ग ने अपनी नाबालिग बेटी से छेड़छाड़ करने वाले बदमाश के खिलाफ पांच दिन पहले लूणी थाने में केस दर्ज कराया। आरोपी की गिरफ्तारी होती, उससे पहले उनका शव खेत में बनी मचान पर मिला। उनके मुंह से झाग निकलने के निशान भी थे। संदिग्ध हालात में हुई मौत पर परिजनों ने आरोपी पक्ष के लोगों पर हत्या का आरोप लगाते हुए शव उठाने से इनकार कर दिया। शाम को पुलिस ने छेड़छाड़ के आरोपी को गिरफ्तार किया। शुक्रवार को पुलिस शव का पोस्टमार्टम कराएगी।

एसीपी (बोरानाडा) मांगीलाल राठौड़ ने बताया कि करनियाली गांव के रहने वाले एक व्यक्ति ने लूणी थाने में केस दर्ज कराया था। इसमें बताया कि उनकी नाबालिग बेटी के साथ क्षेत्र के ही रहने वाले कानसिंह राजपुरोहित ने छेड़छाड़ की। लूणी थाने में पॉक्सो व छेड़छाड़ का केस दर्ज किया गया। इसके बाद पुलिस थाना क्षेत्र में होने वाले विभिन्न मेलों में व्यस्त रही। गुरुवार सुबह बुजुर्ग परिवादी का शव खेत में मिला। उनके मुंह से झाग आने के निशान से आशंका है कि उनकी मौत विषाक्त पदार्थ से हुई होगी। हालांकि, इसकी पुष्टि पोस्टमार्टम रिपोर्ट से ही हो सकेगी।

दूसरी ओर पीड़ित परिवार के लोगों का आरोप था कि नाबालिग से छेड़छाड़ करने वाले आरोपी से जुड़े लोग पीड़ित पर रिपोर्ट वापस लेने का दबाव बना रहे थे और संभवतया उन्हीं में से किसी ने बुजुर्ग की हत्या की है। इसी आधार पर पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज किया है। जबकि, गत 7 सितंबर को दर्ज छेड़छाड़ के मामले में पुलिस ने गुरुवार शाम को करनियाली निवासी आरोपी कानसिंह राजपुरोहित (45) पुत्र मूलसिंह को गिरफ्तार कर लिया। उधर, रात को पुलिस ने लूणी मोर्चरी से शव को एमडीएम हॉस्पिटल मोर्चरी में रखवाया।