थाने पर फायरिंग: एटीएस ने नई दिल्ली में दो को पकड़ा, अब तक 12 बदमाश पुलिस की गिरफ्त में


अलवर. बहरोड़ थाने में फायरिंग कर विक्रम उर्फ पपला गुर्जर को फरार कराने के मामले में पुलिस ने दो और बदमाशों को न‌ई दिल्ली के बसंतकुंज इलाके से गिरफ्तार किया है। जबकि बहरोड़ थाने में 6 सितंबर को फायरिंग के दौरान चारपाई के नीचे छिपने वाले एक आरएसी जवान को भी निलंबित कर दिया गया है। उधर, बुधवार को पकड़े गए तीन बदमाशों को एसओजी ने कोर्ट में पेश किया, जहां से उन्हें न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया गया।

एटी‌एस के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक अनिल पालीवाल ने बताया कि आरोपी महेन्द्र उर्फ पप्पू एवं अजय उर्फ बिल्लू को गिरफ्तार किया गया है। अब तक एटीएस हिस्ट्रीशीटर सरपंच विनोद स्वामी एवं 50 हजार के इनामी बदमाश दिनेश गुर्जर सहित कुल 12 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है।

दुबई जाने वाला था महेंद्र, टिकट बुक हो चुकी थी 
खैरोली का रहने वाला महेंद्र उर्फ पप्पू गुर्जर दुबई में करीब ढाई साल तक काम कर चुका है। वहां से लौटने के बाद कुछ समय से गांव खैरोली में रह रहा था। वह फिर से दुबई जाने वाला था। इसके लिए उसने टिकट व वीजा आदि करा लिया था।

तीन आरोपियों को न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेजा
हरियाणा के मोस्टवांटेड अपराधी विक्रम उर्फ पपला को भगाने में मदद करने के तीन आरोपियों को पुलिस ने शुक्रवार को एसीजेएम कोर्ट में पेश किया गया। तीनों को शिनाख्त के लिए न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेजा गया। एसओजी, एटीएस व पुलिस के कड़े पहरे में बदमाशों को पेश किया गया। एसओजी के अधिकारी मनोज कुमार ने बताया कि 6 सिंतबर को बहरोड़ थाने पर हुई घटना के संबंध में महेंद्रगढ़ के खैरोली बैरवास निवासी दिनेश गुर्जर पुत्र कैलाश गुर्जर, श्याम सुन्दर गुर्जर उर्फ अशोक पुत्र हवासिंह गुर्जर, तिजारा के टिहली निवासी नरेन्द्र पुत्र कंवर सिंह को गिरफ्तार किया गया। दिनेश गुर्जर ने बहरोड़ थाने के भीतर एके-47 गन से फायरिंग की थी। उस पर 50 हजार रुपए का इनाम पहले से घोषित है। आरोपियों को बापर्दा एसीजेएम सुप्रिया जोशी ने न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेजने के आदेश दिए हैं। आरोपियों की शिनाख्त पुष्टि कराकर अन्य मामलों में पूछताछ की जाएगी।

बदमाशों ने गोलियां चलाई तो कमरे में घुस गया था आरएसी जवान
बहरोड़ थाने में 6 सिंतबर को फायरिंग की घटना के दौरान चारपाई के नीचे छिपने वाले एक और पुलिसकर्मी अजय सिंह काे निलंबित कर दिया गया है। आरएसी के हैड कांस्टेबल सेवती प्रसाद ने बताया कि बहरोड़ पुलिस थाने पर आरएसी के 8 सिपाही व 2 हैड कांस्टेबलों की ड्युटी लगी हुई है। थाने पर 6 सितंबर को फायरिंग कर बदमाश पपला गुर्जर काे छुड़ाकर ले जाने के दाैरान अजय सिंह भी ड्युटी पर तैनात था। बदमाशों ने गोलियां चलाईं तो अजय सिंह कमरे में भाग गया और चारपाई के नीचे जाकर छिप गया। जांच में सत्यता पाये जाने पर आरएसी कमांडेंट रामेश्वर चाैधरी ने अजय सिंह को निलंबित करने के आदेश जारी किए हैं। गौरतलब है कि थाने पर फायरिंग की उक्त घटना के संबंध में एक आरपीएस, बहरोड़ के तत्कालीन थानाधिकारी सुगन सिंह सहित अब तक कुल 5 पुलिसकर्मी निलंबित हो चुके हैं। दो पुलिसकर्मियों को सेवा से बर्खास्त किया गया और 69 लाइन हाजिर किए जा चुके हैं।