प्रेमजाल में फंसाया, फिर रेप केस में ब्लेकमेल कर वसूले 17 लाख रुपए, महिला व साथी गिरफ्तार


प्रेमजाल में फंसाने के बाद एक व्यक्ति पर दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज करवाने के बाद ब्लेकमेलिंग कर लाखों रुपए ऐंठने वाली गैंग का खुलासा कर पुलिस ने एक महिला व उसके साथी को गुरुवार को विद्याधर नगर थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। आरोपी महिला विश्वकर्मा थाने में एक अन्य व्यक्ति के खिलाफ और जयपुर ग्रामीण के सामोद थाने में थानाप्रभारी के खिलाफ ही दुष्कर्म का शिकायत दर्ज करवा चुकी है। इनमें थानाप्रभारी को तो राजीनामा करना पड़ा। जिनमें गैं ने मोटी रकम सवूली।

दो साल पहले प्रेमजाल में फंसाया, वसूली की रकम चुकाने के लिए पीड़ित ने 12 लाख रुपए का लोन लिया

  1. डीसीपी नार्थ मनोज कुमार चौधरी ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी सुमन सैनी (24) निवासी ढाणी मेडा वाली, इटावा भोपजी, थाना सामोद है, जो कि इन दिनों टोडी हरमाड़ा में रहती है। वहीं, उसके गिरोह का साथी आरोपी सीताराम सैनी(28) निवासी गांव खेजरोली, गोविंदगढ़ थाना चौमूं है। आरोपी सुमन सैनी को रंगे हाथों गिरफ्तार कर परिवादी रोहिताश कुमार मीणा से वसूली गई 50 हजार रुपए की रकम भी बरामद की है।
  2. डीसीपी मनोज ने बताया कि तुलसी नगर जयपुर निवासी रोहिताश कुमार मीणा ने 10 मई को विद्याधर नगर थाने में मुकदमा दर्ज करवाया था। जिसमें बताया कि दो साल पहले सुमन सैनी ने उसे प्रेमजाल में फंसाया। फिर उस पर दुष्कर्म का आरोप लगाकर ब्लेकमेल किया। तीन लाख रुपए वसूल कर लिए। ज्यादा रकम मांगने पर रोहिताश ने मना कर दिया। तब उसके खिलाफ विद्याधर नगर थाने में दुष्कर्म का केस दर्ज करवाया। उसे जेल भिजवाया। चालान पेश कर दिया।
  3. इसके बाद आरोपी सुमन सैनी ने रोहिताश को सजा से बचाने के लिए बयान बदलने की एवज में अपने साथियों की मदद से मोटी रकम मांग शुरु कर दी। तब रोहिताश ने फाइनेंस कंपनी से 12 लाख रुपए का लोन लिया। इस तरह, करीब 17 लाख रुपए की रकम सुमन सैनी और उसकी गैंग को दे दी। इसके बाद भी यह गैंग दुष्कर्म केस में बयान बदलने की एवज में साढ़े 6 लाख रुपए और मांगने लगे।
  4. बयान बदलने की एवज में मांगे साढ़े 6 लाख रुपए, 50 हजार रुपए लेकर रेस्टोरेंट में बुलाया

    एडिशनल डीसीपी नार्थ धर्मेंद्र सागर के अनुसार पीड़ित रोहिताश ने बताया कि वह ब्लेकमेलिंग से बर्बाद हो चुका है। पिछले 10 दिन से गैंग के सीताराम सैनी व नरेंद्र सैनी उसे धमका रहे है। वे बयान बदलने के लिए उसे सीकर रोड पर सनसिटी के पास एक रेस्त्रां में 50 हजार रुपए लेकर बुला रहे है।

  5. तब थानाप्रभारी राधारमण गुप्ता के नेतृत्व में टीम गठित कर ट्रेप रचा गया। एक विशेष सीरियल नंबर की नोटों की सीरीज पीड़ित रोहिताश को दी गई। इसके बाद एक गाड़ी में रोहिताश व उसकी पत्नी रेस्त्रां में पहुंचे। वहीं दूसरी गाड़ी में पुलिस टीम मौके पर पहुंचे। जहां वसूली की रकम लेते ही पुलिस टीम में सुमन सैनी व उसके साथी सीताराम सैनी को धरदबोचा। उनके अन्य साथियों की तलाश जारी है।