विकास का सुकूनदायी और सुनहरा मंजर दिखा रही सरकार  – उच्च शिक्षा मंत्री



जयपुर। उच्च शिक्षा मंत्री श्रीमती किरण माहेश्वरी ने राजसमन्द विधानसभा क्षेत्र के 11 दिवसीय सघन जनसम्पर्क दौरे के अन्तर्गत बुधवार को सांगठकला एवं मुण्डोल आदि ग्राम पंचायतों के विभिन्न गांवों का दौरा किया और कराड़ों रुपए लागत के ग्राम्य विकास कार्यों का लोकार्पण व शिलान्यास किया।
उच्च शिक्षा मंत्री ने गांवों में सघन जनसम्पर्क करते हुए जगह-जगह जन सुनवाई की और ग्रामीणों तथा ग्रामीण जन प्रतिनिधियों से उनके क्षेत्र में हुए विकास की संरचनाओं और विकास गतिविधियों की जानकारी ली।
उच्च शिक्षा मंत्री ने ग्रामीणों से आंचलिक विकास के लिए जरूरी कार्यों के बारे में जानकारी ली और आश्वासन दिया कि ग्रामीणों की जरूरतों एवं मांग के अनुरूप प्राथमिकता से विकास कार्य कराए जाएंगे। इसके लिए उन्होंने संबंधित विभागों के अधिकारियाें से कहा कि वे ग्रामीण विकास की जरूरतों से संबंधित प्रस्ताव बनाकर पेश करें।
उच्च शिक्षा मंत्री का गांवो में ग्रामीणों ने ढोल-ढमकों के साथ स्वागत किया और इकलाई, साड़ी तथा शॉल ओढ़ाकर एवं पुष्पहार पहना कर दिल खोलकर स्वागत किया। ग्रामीणों ने क्षेत्र में हुए तीव्र विकास तथा ग्रामीणों के लिए उपयोगी संसाधनों के निर्माण व विकास के लिए आभार जताया।
ग्रामीणाेंं ने उच्च शिक्षा मंत्री को बताया कि उनकी पहल से ग्रामीण क्षेत्रों में आज चौतरफा विकास नज़र आ रहा है और इसका लाभ हजारों ग्रामीण ले रहे हैं।  श्रीमती किरण माहेश्वरी ने इस दौरान पुठोल में चामुण्डा माता मन्दिर सहित मार्ग में आने वाले देवालयों में दर्शन किए और राजसमन्द तथा प्रदेश की तीव्रतर प्रगति एवं सर्वतोमुखी खुशहाली के लिए कामना की।
उच्च शिक्षा मंत्री के दौरे में गांवों में जगह-जगह विभिन्न समाजों के प्रतिनिधियों ने श्रीमती किरण माहेश्वरी का विकास के लिए अभिनंदन किया। सामाजिक प्रतिनिधियों ने श्रीमती माहेश्वरी का आभार जताया और कहा कि सर्वसमाज के लिए उनका योगदान सराहनीय है।
कार्यक्रमों को संबोधित करते हुए उच्च शिक्षा मंत्री श्रीमती किरण माहेश्वरी ने ग्रामीणाेंं को सरकार की ओर से किए जा रहे विकास कार्यों के बारे में बताया और कहा कि सरकार ने हाल के वर्षों में गांवों में करोड़ों के विकास कार्य कराए हैं जिनमें सामुदायिक विकास से संबंधित कामों के साथ ही बुनियादी सेवाओं और लोक सुविधाओं पर विशेष ध्यान दिया गया है।
उन्होंने कहा कि सरकार ने गांवों में विकास की जरूरतों और ग्रामीणों की भावनाओं के अनुरूप विकास का इतिहास कायम किया है और आने वाले समय में वह स्थिति सामने ला दी जाएगी कि गांवों में भरपूर विकास का सुकून बरसता रहेगा।
उच्च शिक्षा मंत्री श्रीमती किरण माहेश्वरी ने ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा कि क्षेत्र के विभिन्न गॉंवों की पेयजल समस्या के स्थाई समाधान के लिए सांगठ कला के तालाब से पाइप लाइन के जरिए विभिन्न ग्रामों में पानी पहुंचाया जाएगा और इसके लिए 5 करोड रुपए की विस्तृत योजना  लागू की जाएगी।
 उन्होंने बताया कि अकेली सांगठकला पंचायत में 22 करोड़ रुपये अब तक ग्रामीण विकास के विभिन्न कामों पर खर्च हो चुके हैं और आने वाले समय में भी विकास की गतिविधियों को और अधिक प्रभावी बनाया जाएगा। सांगठकला में विकास के लिए उन्होंने सरपंच श्री भैरूलाल जोशी एवं उनकी टीम की सराहना की। समारोह में वक्ताओं ने कहा कि श्रीमती किरण माहेश्वरी ने जो कुछ किया है वह ग्रामीण क्षेत्रवासियों के लिए सौगात है और इसे ग्राम्यांचलों के लोग कभी नहीं भूलेंगे।

दौरे में राजसमंद जिले की उप जिला प्रमुख श्रीमती सफलता गुर्जर, राजसमंद पंचायत समिति की प्रधान श्रीमती रीना कुमावत एवं बड़ी संख्या में ग्रामीण व जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।