कॉलोनी से जा रहे बजरी ट्रक का रास्ता रोका, आधा घंटे बाद उसी ट्रक ने बुजुर्ग को रौंदा


जयपुर. करधनी इलाके में गंगा विहार कॉलोनी में बुधवार को बजरी से भरे ट्रक के चालक को रास्ता बदलने की बात बोलना कॉलोनी के अध्यक्ष को भारी पड़ गई। गंगा विहार कॉलोनी के अध्यक्ष किशोर सिंह जुलियासर ने ट्रक का रास्ता रोककर आईन्दा इधर ना आने की हिदायत देकर वापस भेज दिया। 8-10 लोगों को देखकर चालक ट्रक वापस घुमाकर ले गया, लेकिन ट्रक चालक करीब आधे घंट बाद दूसरी तरफ से तेज रफ्तार दौड़ाकर लाया और किशोर सिंह को रौंदता हुआ ले गया।

इस दौरान पास खड़ा कॉलोनी निवासी भवानी सिंह जोर-जोर से चिल्लाने लगा तो कुछ लोग घरों से बाहर निकले और ट्रक को पीछा किया। तब तक चालक ट्रक को रेलवे पटरियों के पास ले गया। जहां चालक ने ट्रक खड़ा किया और पैदल-पैदल पटरिया पार करके दूसरी तरफ खड़ी कार में बैठकर फरार हो गया। काॅलोनी के लोगों ने पुलिस को सूचना दी और ट्रक को वापस घटनास्थल के पास खाली प्लॉट में लाकर खड़ा कर दिया।

सूचना के 15 मिनट बाद मौके पर पहुंची करधनी थाना पुुलिस ने मृतक के शव को एसएमएस हॉस्पिटल पहुंचाया और ट्रक को थाने लाकर जब्त कर लिया। नंबरो के आधार पर कनकपुरा निवासी रामलाल का बताया जा रहा है। जिसके आधार पर चालक की तलाश की जा रही है।

आरोपी की गिरफ्तारी की मांग

इधर गुस्साएं कॉलोनी के लोगों ने ट्रक चालक के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज करके गिरफ्तार करने की चेतावनी दी है। जब तक आरोपी गिरफ्तार नहीं होगा तब तक शव नहीं लिया जायेगा। लोगों का कहना है कि ट्रक के आगे-पीछे आई-20 व स्कॉर्पियों गाड़ी स्कॉर्ट में चलती है। चालक उन्हीं गाड़ियों में बैठकर भगा है। पुलिस ने उक्त गाड़ियों की पहचान के लिए आस-पास लगे सीसीटीवी कैमरों के फुटेज खंगाल रही है।

गंगा विहार काॅलोनी में 8 से 10 छोटे अपार्टमेंट बने हुए है। किशोर सिंह कॉलोनी के अध्यक्ष बने हुए थे। इसलिए वह कॉलोनी की छोटी रोड से गुजर रहे ट्रक चालकों काे केवल रास्ता बदलने के लिए बोलता था, ताकि गली में खेलने वाले बच्चों के साथ किसी प्रकार की दुर्घटना नहीं घटे।

ऐसे हुआ घटनाक्रम

बुधवार सुबह करीब 9 बजे किशोर सिंह घर के बाहर लगे पेड़-पौधों की गुदाई करके पानी दे रहे थे। और लोगों से बातचीत कर रहे थे। इस दौरान करीब 9:33 बजे रेलवे लाइन की तरफ से बजरी से भरा ट्रक आया तो किशाेर ने ट्रक रूकवाया और रास्ता बदलने की चेतवानी देकर वापस भेज दिया। इस दौरान कई लोग इक्कठे हो गए थे। चालक ट्रक को वापस घुमाकर ले जाने लगा। कॉलोनी के लोगों ने बताया कि चालक जाते समय कुछ देर देख लेने की धमकी देकर गया था। इसलिए कॉलोनी के लोग बता रहे है कि किशोर सिंह हत्या करने वाला वहीं चालक है। करीब आधे घंटे बाद दूसरी तरफ से खाली ट्रक आया तो किशोर ने उसे भी रूकने का इशारा किया था, लेकिन चालक ने रोकने की बजाय ट्रक की स्पीड़ बढ़ा ली और रोड से 4 फीट दूर किशोर को कुचलते हुए भगाकर ले गया।

साथ खड़े भवानी सिंह का कहना है कि वह सुबह-सुबह दोहिते को गोद में लेकर किसी काम से परिचित के घर जा रहा थे। इस दौरान अपार्टमेंट के नीचे किशोर जी मिल गए तो दोनों आपस में बातचीत करने लगे। तभी काॅलोनी की रोड पर ट्रक को आते देखकर उन्होंने उसे रूकने का इशारा किया तो चालक ट्रक की स्पीड़ बढ़ा दी। ट्रक की स्पीड देखकर किशोर सिंह ने बचने के लिए दूर भागने की कोशिश की, लेकिन चालक ने रोड से 4-5 फीट दूर जाकर रौंद दिया। ट्रक निकलने के बाद मैं चिल्लाया तो लोग घरो से निकले ओर ट्रक का पीछा किया। किशोर सिंह का बेटा नासिक में रहता है। पुलिस ने शव को एसएमएस हॉस्पिटल के मुर्दाघर में रखवा दिया। बेटे के आने के बाद पोस्टमार्टम करवाया जायेगा।

घटना की सूचना व कॉलोनीवासियों के विरोध की जानकारी मिलने के बाद मौके पर पहुंचे एडीशनल डीसीपी बजरंग सिंह ने लोगों से समझाइश करी और चालक के खिलाफ मुकदमा दर्ज करके जल्द कार्यवाही करने का आश्वासन दिया। उसके बाद कॉलाेनी के लोग एडीसीपी को जगह-जगह पड़ी बजरी दिखाने के लिए ले गए। लोगों ने कहां बजरी खनन पर रोक है तो इतनी बजरी कहां से आ रही है। मैन कालवाड़ रोड स्थित 206 बीघा में बजरी के सैकंड़ो ढेर लगे पड़े है और आस-पास धडल्ले से निर्माणकार्य चल रहे है।