कुंडली के ग्रह दोषों को शांत करने के लिए सुबह उठ कर करे ये काम



ज्योतिष में एेसे कई उपाय बताए गए हैं, जिन्हें अपनाने से जीवन की हर परेशानी दूर हो सकती है। कुंडली के ग्रह दोषों को शांत करने के लिए यहां कुछ उपाय बताए जा रहे हैं। जिन्हें 12 राशियों के लोग अपनी दिनचर्या में शामिल करके सुखी जीवन जी सकते हैं। किसी भी उपाय को अपनाने से पहले उस पर विश्वास करें, अविश्वास से किया गया कोई भी काम कभी पूरा नहीं होता।

समाज में मान-सम्मान चाहते हैं तो रोजाना रात को सोने से पहले अपने सिर के पास तांबे के लोटे में पानी भरकर रखें। सुबह उठ कर इस पानी को अपने सिर से वार कर किसी कांटेदार पौधे में डाल दें।

सुबह सूर्योदय से पहले उठकर नित्य क्रिया व स्नान आदि के बाद तांबे के लोटे में पानी भरकर उसमें लाल फूल, कुमकुम और चावल डालकर सूर्य को अर्घ्य दें। जल चढ़ाते समय ॐ सूर्याय नम: मंत्र का जाप करें। इस उपाय को रोज़ाना करने से व्यक्ति को समाज में प्रसिद्धि मिलती है।

धार्मिक शास्त्रों के अनुसार पीपल का वृक्ष भगवान श्रीकृष्ण का ही एक स्वरूप है और इसमें सभी देवी-देवताओं का वास है। यदि आप चाहते हैं कि केवल एक उपाय से ही सभी देवी-देवता प्रसन्न हो जाएं तो सोमवार से लेकर शनिवार तक नियमित पीपल के वृक्ष पर जल चढ़ाएं और जल चढ़ाते समय ॐ ब्रह्मदेवाय नमः मंत्र का जाप करें।

तुलसी के पौधे पर जल चढ़ाने से भगवान विष्णु के साथ ही महालक्ष्मी की भी कृपा मिलती है। जल चढ़ाते समय इस मंत्र का उच्चारण अवश्य करें।

मंत्र
महाप्रसाद जननी, सर्व सौभाग्यवर्धिनी आधि व्याधि हरा नित्यं, तुलसी त्वं नमोस्तुते।।

इस मंत्र के जाप से रोग, शोक, बीमारी-व्याधि आदि से छुटकारा मिलता है।