गहलोत सरकार में मंत्री चांदना ने अनुच्छेद 370 हटाने का किया स्वागत, ट्विटर पर लिखा- यह मेरी निजी राय


राजस्थान सरकार में मंत्री अशोक चांदना ने मंगलवार को केंद्र सरकार द्वारा धारा 370 हटाने का स्वागत किया। उन्होंने ट्वीट कर प्रतिक्रिया व्यक्त की। उन्होंने लिखा कि यह मेरी निजी राय है। जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाना सरकार का पहला फैसला है, जिसका मैं स्वागत करता हूं। अशोक चांदना राजस्थान सरकार में खेल मंत्री हैं।

अशोक चांदना का ट्वीट

Ashok Chandna

@AshokChandnaINC

यह मेरी निजी राय है, जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाना सरकार का पहला फैसला है जिसका मैं स्वागत करता हूँ।
लेकिन 370 बदलने का क्रियान्वरण तानाशाही से ना होकर शांति और विश्वास के माहौल में होकर इसका अच्छे से निस्तारण हो ताकि भविष्य में देश के किसी नागरिक को कोई समस्या ना होl

454 लोग इस बारे में बात कर रहे हैं

ज्याोति मिर्धा का ट्वीट

Dr. Jyoti Mirdha 🇮🇳

@jyotimirdha

Nation First! Opposing for the heck of opposing is no virtue. Join in, congratulate the Government for taking a bold step towards integrating India

118 लोग इस बारे में बात कर रहे हैं

गृहमंत्री अमित शाह ने राज्यसभा में की घोषणा

केंद्र सरकार ने सोमवार को अनुच्छेद 370 हटा दिया। इसके लिए गृह मंत्री अमित शाह ने राज्यसभा में अनुच्छेद 370 हटाने के लिए संकल्प पेश किया था। शाह के प्रस्ताव रखने के बाद राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने अनुच्छेद 370 हटाने के लिए संविधान आदेश (जम्मू-कश्मीर के लिए) 2019 के तहत अधिसूचना जारी कर दी। अब जम्मू-कश्मीर और लद्दाख अलग-अलग केंद्र शासित प्रदेश होंगे।

26 अक्टूबर 1947 को जम्मू-कश्मीर के राजा हरि सिंह ने विलय संधि पर दस्तखत किए थे। उसी समय अनुच्छेद 370 की नींव पड़ गई थी। जब समझौते के तहत केंद्र को सिर्फ विदेश, रक्षा और संचार मामलों में दखल का अधिकार मिला था। 17 अक्टूबर 1949 को अनुच्छेद 370 को पहली बार भारतीय संविधान में जोड़ा गया।