ब्रिटेन में पढ़ने वाले भारतीय छात्रों ने पीएम नरेंद्र मोदी को लिखा पत्र


ब्रिटेन में पढ़ने वाले भारतीय छात्रों के एक संगठन ने पीएम नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर सांसत में डाल दिया हैं. पीएम एक समिट में हिस्सा लेने मंगलवार 17 अप्रैल को लंदन जा रहे हैं और बुधवार को भारतीय मूल के लोगों को संबोधित करेंगे. लंदन में शिक्षा प्राप्त कर रहे छात्रों ने उन्नाव और कठुआ गैंगरेप केस में जल्द न्याय दिलाने की अपील की है और लंदन स्थित भारतीय हाई-कमीशन को पत्र दिया है. पत्र में छात्रों ने कहा कि हाल ही के समय में जिस तरह की घटनाएं भारत में हुई हैं, उसके लिए पीएम को अभूतपूर्व कदम उठाकर दोषियों पर कार्रवाई करनी चाहिए. यूएन के जनरल सेक्रेटरी एंटोनियो गुटेरेस ने शनिवार को ही दोनों घटनाओं की निंदा की. ‘द नेशनल इंडियन स्टूडेंट्स एंड एल्युम्नाइ यूनियन (एनआईएसएयू), यूके’ के साथ 19 भारतीय संस्थानों ने पीएम मोदी से ब्रिटेन आने से पहले ही मामलों पर कड़े कदम उठाने की अपील की है. यूनियन ने पत्र में लिखा, “हम उम्मीद करते हैं कि जब आप ब्रिटेन आएंगे, तब तक आप इस मामले पर कार्रवाई कर चुके होंगे और भारत में कानून और व्यवस्था ठीक से लागू होगी, ताकि जब आप ‘भारत की बात सबके साथ’ में हमें संबोधित करेंगे तो बता पाएं कि इन मामलों पर आपने क्या कड़े कदम उठाए गये हैं. मंगलवार से पीएम मोदी का ब्रिटेन दौरा शुरू होगा. वे बुधवार को लंदन स्थित भारतीय समुदाय के साथ ‘भारत की बात, सबके साथ’ इवेंट में संबोधित करेंगे. पत्र में उन्नाव की घटना का जिक्र करते हुए लिखा गया, “सरकार मामले में कड़ी से कड़ी कार्रवाई कर के साबित करे कि वो आरोपियों के साथ नहीं है, क्योंकि आरोपी के तार कहीं ना कहीं ताकतवर लोगों के साथ जुड़े थे. एनआईएसएयू ने पीएम मोदी को लिखे पत्र में कहा, “असाधारण समय में असाधारण कदम उठाना बेहद जरूरी हैं. आप नोटबंदी जैसे कठिन फैसले करने में नहीं हिचकें. कृपया कुछ वैसे ही असाधारण कदम उठाएं ताकि साबित हो जाए कि भारत की बेटियां भी अहमियत रखती हैं.