इसरो प्रमुख सिवन इकोनॉमी क्लास में सफर करते दिखे, क्रू और यात्रियों ने तालियों से स्वागत किया


भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संस्थान (इसरो) के प्रमुख के. सिवन अपनी साधारण जीवनशैली के लिए जाने जाते हैं। पिछले महीने भारत के ऐतिहासिक चंद्रयान-2 मिशन की कमान संभाल चुके सिवन को देश-दुनिया में काफी सराहना मिली थी। हाल ही में हवाई यात्रा के दौरान क्रू और साथी यात्रियों ने तालियों से प्लेन में उनका जोरदार स्वागत किया। इसरो जैसे देश के प्रतिष्ठित संस्थान के प्रमुख होने के बाद भी सिवन इंडिगो एयरलाइंस की इकोनॉमी क्लास में सफर कर रहे थे।

विमान में मौजूद एक यात्री ने इस घटनाक्रम का वीडियो ट्विटर पर शेयर किया है, जो इन दिनों वायरल हो रहा है। यूजर्स ने तारीफ करते हुए उन्हें देश का रियल हीरो बताया। वीडियो में सिवन इकोनॉमी क्लास में सफर करते नजर आए। एयरलाइंस स्टाफ और सहयात्रियों ने उनके सम्मान में तालियां बजाईं। इस दौरान सिवन ने बड़े सरल लहजे में केबिन क्रू व यात्रियों से हाथ मिलाया। उनके साथ सेल्फी भी खिंचाई और हालचाल पूछा। इसरो प्रमुख होने के बावजूद इकोनॉंमी क्लास में सफर करना उनकी साधारण जीवनशैली को दर्शाता है।

ट्विटर यूजर्स ने सिवन की तारीफ की

Subba Rao🇮🇳🇮🇳@yessirtns

ISRO Chairman travelling in the economy class in INDIGO…A big SALUTE to this simplicity… PROUD of you Mr.Sivan 🙏🙏👏👏🇮🇳🇮🇳

एम्बेडेड वीडियो

Anchal Agrawal@Anchal_Agra

I’m liking this India more n more these days where real heroes are getting acknowledgement than only reel ones.

Anchal Agrawal के अन्य ट्वीट देखें

Subba Rao🇮🇳🇮🇳@yessirtns

ISRO Chairman travelling in the economy class in INDIGO…A big SALUTE to this simplicity… PROUD of you Mr.Sivan 🙏🙏👏👏🇮🇳🇮🇳

एम्बेडेड वीडियो

Niwirk के अन्य ट्वीट देखें

Subba Rao🇮🇳🇮🇳@yessirtns

ISRO Chairman travelling in the economy class in INDIGO…A big SALUTE to this simplicity… PROUD of you Mr.Sivan 🙏🙏👏👏🇮🇳🇮🇳

एम्बेडेड वीडियो

🇮🇳🚩Geetanjali 🇮🇳🚩@_ankahi

Our PM travels in Metro too every now and then!! This admin is finally changing the VIP culture!! 👍🏼👍🏼

🇮🇳🚩Geetanjali 🇮🇳🚩 के अन्य ट्वीट देखें

सिवन के पिता खेती करते थे, पढ़ाई पूरी करने में मुश्किलें झेलीं
इसरो प्रमुख सिवन तमिलनाडु के कन्याकुमारी के एक सामान्य परिवार से आते हैं। उनके पिता खेती करते थे। बचपन में उन्हें पढ़ाई पूरी करने के लिए मुश्किल दौर से गुजरना पड़ा था। उन्होंने इसरो ज्वाइन करने के बाद देश की अंतरिक्ष एजेंसी के लिए कई अहम प्रोजेक्ट में अहम भूमिका निभाई है। सिवन ने आईआईटी भुवनेश्वर के दीक्षांत समारोह में छात्रों के साथ अपनी जिंदगी के अनुभव और सीख साझा की थी। उन्होंने कहा था कि मुझे कभी कोर्स और करियर चुनने का मौका नहीं मिला, लेकिन मैं हमेशा उनके लिए मेहनत करता रहा।