श्रीनगर-लद्दाख के बीच हादसे में मारे गए लाेगाें के शव विमान से जयपुर लाए जाएंगे


श्रीनगर-लद्दाख के बीच शनिवार को हादसे में मारे गए लाेगाें के शव विमान से जयपुर लाए जाएंगे। मुख्यमंत्री के आदेश के साथ ही भीलवाड़ा एवं लेह जिले के प्रशासनिक अधिकारी इस तैयारी में जुट गए। परिजनाें के लेह पहुंचने पर विधिक अाैपचारिकता के बाद शव रवाना किए जाएंगे। संभवत: पालड़ी में सामूहिक अंतिम संस्कार हाेगा।

जिला मुख्यालय से करीब तीन किलाेमीटर दूर, काेठारी नदी के दूसरी तरफ बसे पालड़ी गांव के बागरिया बस्ती में रहने वाले दंपती पप्पू व प्रेम, इनके पांच बेटे-बेटियाें तथा लांबिया स्टेशन निवासी नंदू व उसके बेटे की माैत शनिवार काे जम्मू-कश्मीर में लेह के पास ट्रक पलटने से हाे गई।

ये सभी वहां खजूर के बने झाड़ू बेचने गए हुए थे। वहां के गांवाें में झाड़ू बेचकर लेह अाते समय ये सीमेंट भरे ट्रक में बैठ गए। ट्रक असंतुलित हाेकर पलट गया था। लांबिया स्टेशन निवासी भैरू बागरिया वहां के खलसी स्थित अस्पताल में भर्ती है। उसकी तबीयत खतरे के बाहर बताई जा रही है।

रविवार काे कांग्रेस जिला अध्क्षय रामपाल शर्मा पालड़ी पहुंचे। उन्हाेंने परिजनाें काे सांत्वना दी। परिवार के अार्थिक हालात बताते हुए मुख्यमंत्री अशाेक गहलाेत से फाेन पर बातचीत की। मुख्यमंत्री के निर्देश पर जयपुर से अधिकारियाें ने जम्मू-कश्मीर प्रशासन से बात की। इसमें तय हुआ कि सभी शवाें काे विमान से जयपुर लाया जाएगा।