लेफ्टिनेंट जनरल मनोज मुकुंद नारावने आर्मी स्टाफ के वाइस चीफ बने, जनरल देवराज अंबु का स्थान लिया


लेफ्टिनेंट जनरल मनोज मुकुंद नारावने ने रविवार को आर्मी स्टाफ के वाइस चीफ का पदभार ग्रहण किया। लेफ्टिनेंट जनरल नारावने भारतीय सेना की ईस्टर्न कमांड का नेतृत्व कर रहे थे। उन्होंने लेफ्टिनेंट जनरल देवराज अंबु का स्थान लिया। अंबु 31 अगस्त को रिटायर हो गए थे।

सेना ने कहा कि लेफ्टिनेंट जनरल नारावने पूर्वोत्तर और जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद विरोधी अभियानों में सक्रिय रहे थे। वे श्रीलंका में ऑपरेशन पवन के दौरान भारतीय शांति सेना का भी हिस्सा रहे थे।

सेना मेडल से हो चुके हैं सम्मानित

लेफ्टिनेंट जनरल नारावने को जम्मू-कश्मीर में उल्लेखनीय कार्य के लिए ‘सेना मेडल’ से सम्मानित किया जा चुका है। उन्हें नगालैंड में असम राइफल्स में इंस्पेक्टर जनरल रहने के दौरान ‘विशिष्ट सेवा मेडल’ से सम्मानित किया जा चुका है।

नारावाने ने कहा था- चीनी सेना 100 बार ग्रे जोन में गई तो हमने भी 200 बार ऐसा किया 

इससे पहले, पिछले मंगलवार को लेफ्टिनेंट जनरल एमएम नारावने ने एलएसी पर चीनी सैनिकों की घुसपैठ के सवाल पर कहा था कि चीन ने डोकलाम को क्षेत्रीय दबंगई के तौर पर इस्तेमाल किया था। अगर वे 100 बार विवादित क्षेत्र (ग्रे जोन) में गए तो हमने भी 200 बार ऐसा किया। डोकलाम में भारतीय सैनिक चीन के सामने डटे रहे। इससे वक्त साफ संकेत मिला है कि भारतीय सेना पहले से मजबूत है।