बारिश से बचने के लिए जिस पेड़ के नीचे गए, उसी पर गिरी बिजली; 29 मजदूर घायल


देसूरी उपखंड के पानोता गांव में रविवार तड़के बिजली गिरने से करीब 29 मजदूर घायल हो गए। सभी को पास के अस्पताल में भर्ती कराया गया। इनमें आठ गंभीर है। हादसे के वक्त ये लोग खेत में काम कर रहे थे तभी बरसात शुरू हो गई। बरसात से बचने को ये लोग एक पीपल के पेड़ के नीचे एकत्र हो गए। तभी पेड़ पर बिजली गिरी। इससे पेड़ के नीचे शरण लिए 29 मजदूर घायल हो गए। उधर जयपुर में दोपहर बाद बारिश हुई तो जैसलमेर में आंधी से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया।

प्राप्त जानकारी के अनुसार देसूरी पंचायत समिति के पनोता ग्राम पंचायत मुख्यालय पर बाबा रामदेवनाड़ी पर चल नरेगा कार्य चल रहा है। वहां कुछ मजदूर काम कर रहे थे। अचानक बारिश शुरू हो गई। तेज आने से श्रमिक पीपल के पेड़ के नीचे बैठ गए। तभी पेड़ पर बिजली गिर गई जिससे कई मजदूर घायल हो गए।

ग्रामीण घायलों को खिंवाड़ा अस्पताल ले गए। वहां डॉक्टर भूपेंद्रसिंह की टीम ने उनका इलाज शुरू कर दिया। हादसे में कुल 31 श्रमिक घायल हुए जिसमे 8 गम्भीर हैं। सभी मरीजों को इलाज के बाद छुट्टी दे दी गई। इधर घटना की सूचना मिलते ही मारवाड़ विधायक खुशवीर सिंह खिंवाड़ा अस्पताल पहुंचे और पाली जिले कलेक्टर को एसडीआरएफ व मुख्यमंत्री सहायता कोष से घायलों को सहायता की मांग की।

जयपुर में बरसे बादल, जैसलमेर में आई आंधी
जयपुर के मानसरोवर, गोपालपुरा बाइपस सहित कुछ इलाकों में दोपहर बाद करीब 20 मिनट अच्छी बरसात हुई। हालांकि बरसात के बाद उमस बढ़ गई जिसने लोगों को परेशान किया। उधर, जैसलमेर में भी तेज तूफान आया। आंधी से कई जगह टीन शेड उड़े। इससे वाहन चालकों को काफी परेशानी हुई।