कांग्रेस पार्टी जो भी सजा देगी वह मुझे मंजूर: मणिशंकर अय्यर


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ अभद्र भाषा का इस्तेमाल करने के लिए कांग्रेस से निलंबित किए जाने के बाद वरिष्ठ नेता मणिशंकर अय्यर ने शुक्रवार को अपनी सफाई में कहा कि उनका इरादा पार्टी को किसी तरह का नुकसान पहुंचाना नहीं था। मणिशंकर अय्यर ने शुक्रवार को मीडिया से कहा कि प्रधानमंत्री के खिलाफ उनके बयान से यदि कांग्रेस को कोई नुकसान पहुंचा है तो उन्हें इसका अफसोस है।

उनका इरादा पार्टी को नुकसान पहुंचाना नहीं था। उन्होंने कहा कि इस बयान के लिए पार्टी उन्हें जो भी दंड देना चाहेगी वह उन्हें स्वीकार होगा। उन्होंने दावा किया कि पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में गुजरात विधानसभा चुनाव में कांग्रेस जीत हासिल करेगी। उल्लेखनीय है कि मणिशंकर अय्यर ने गुरुवार को पीएम मोदी के लिए ‘नीच’ तथा ‘असभ्य’ शब्दों का इस्तेमाल किया था जिसे लेकर राजनीतिक बवाल खड़ा हो गया था।

पीएम मोदी ने चुनावी सभा में इसे लेकर कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा और कहा कि लोगों को गुजरात के पुत्र का अपमान करने वालों को भाजपा के पक्ष में मतदान करके सबक सिखाना चाहिए। केंद्रीय मंत्री अरूण जेटली, कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद और स्मृति ईरानी ने भी इसे लेकर कांग्रेस और अय्यर पर करारा हमला किया था।

मणिशंकर अय्यर के बयान के कुछ ही देर बाद कांग्रेस उपाध्यक्ष ने उन्हें इसके लिए माफी मांगने को कहा था। इस पर अय्यर ने माफी भी मांगी थी लेकिन माफी मांगने के उनके तरीके को उचित न मानते हुए उन्हें रात में पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया था और कारण बताओ नोटिस जारी किया। पीएम मोदी ने आज भी चुनावी रैली में अय्यर के बयान को लेकर कांग्रेस पर हमला किया।