मिड डे मील में अब बच्चों को मिलेगा दूध -शिक्षा राज्यमंत्री



जयपुर। शिक्षा एवं पंचायतीराज राज्यमंत्री श्री वासुदेव देवनानी ने कहा कि प्रदेश के स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को पोषण के लिए अब मिड डे मील योजना के तहत सप्ताह में तीन दिन दूध भी दिया जाएगा। इसके लिए सभी तैयारियां कर ली गई है। आगामी शैक्षणिक सत्र से सरकारी स्कूलों में यह व्यवस्था लागू हो जाएगी। उन्होंने शिक्षकों एवं ग्रामीणों का आह्वान किया कि अधिक से अधिक बच्चों को स्कूल में नामांकन कराए। मई से अगस्त तक सरकारी स्कूलों में नामांकन अभियान चलाया जाएगा।
शिक्षा एवं पंचायतीराज राज्यमंत्री श्री देवनानी ने बुधवार को अजमेर के माकड़वाली के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में 26.60 लाख की लागत से बनने वाले नए कक्षा कक्षों की आधारशिला रखी। उन्होंने कहा कि शैक्षणिक रूप से राजस्थान की अभूतपूर्व प्रगति के बाद अब प्रदेश के विद्यार्थियों को मिड डे मील में अतिरिक्त पोषण के लिए अब दूध भी दिया जाएगा। कक्षा एक से 5 तक के विद्यार्थियों को 150 ग्राम एवं कक्षा 6 से 8 तक के विद्यार्थियों को 200 ग्राम दूध दिया जाएगा।
उन्होंने कहा कि राज्य के विद्यालयों में मई से अगस्त तक सघन नामांकन अभियान चलाया जाएगा। इसके तहत शहरी क्षेत्र एवं सभी ग्राम पंचायतों में 6 से 14 आयु वर्ग के सभी बालक-बालिकाओं का चिन्हिकरण कर उनके नामांकन की कार्यवाही की जायेगी। इस बार नवीन प्रवेश हेतु योग्य बालक-बालिकाओं के अभिभावकों को विद्यालय में अध्ययनरत समस्त विद्यार्थियों द्वारा हस्तनिर्मित विद्यालय नामांकन आमंत्रण पत्र भिजवाये जाकर विद्यालय में नामांकन हेतु प्रेरित किया जाएगा।
उन्होंने बताया कि शहरी क्षेत्रों में ब्लॉक शिक्षा अधिकारी एवं नोडल संस्था  प्रधानों के माध्यम से तथा ग्राम पंचायतों में पंचायत शिक्षा प्रसार अधिकारियों के माध्यम से घर-घर जाकर बालक-बालिकाओं का सर्वे किया जाएगा। 6 से 14 आयु वर्ग के शत-प्रतिशत नामांकन वाली ग्राम पंचायतों को ओडीएफ की तर्ज पर डीओएफ यानि ड्रापआउट फ्री घोषित किया जाएगा। इसके लिए जन प्रतिनिधियों की मदद से ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में विशेष अभियान चलाया जाएगा।
इस अवसर पर श्री ओमप्रकाश भडाना, श्री अरविंद यादव, श्री राजेश शर्मा, श्री महेन्द्र जादम, शिक्षा विभाग के अधिकारी, अन्य जनप्रतिनिधि एवं ग्रामीण उपस्थित थे।