मोदी ने ग्रिल्स के साथ बचपन की यादें साझा कीं, कहा- 18 साल में यह मेरी पहली छुट्टी


डिस्कवरी के शो ‘मैन वर्सेस वाइल्ड’ में सोमवार को होस्ट बेयर ग्रिल्स के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ऐपिसोड टेलीकास्ट किया गया। शो के दौरान मोदी ने ग्रिल्स के साथ बचपन की यादें साझा कीं। मोदी ने कहा कि पिताजी गरीब थे। बचपन में काफी मुश्किलें आईं। हम गर्म कोयले को बर्तन में रखकर कपड़ों में प्रेस करते थे। नमक का इस्तेमाल कपड़े धोने में करते थे।

मोदी ने कहा- मेरा फोकस हमेशा विकास पर रहा है। अगर आप इसे वैकेशन ट्रिप मानते हैं तो 18 साल में यह मेरी पहली छुट्टी है। जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क में फिल्माए गए इस शो में मोदी ने ग्रिल्स से पूछा- आप पहले भारत कब आए थे? ग्रिल्स ने कहा- मैं जब 18 साल का था, तब भारत आया था। मोदी ने ग्रिल्स को बताया कि वे पिताजी की चाय की दुकान में उनका हाथ बंटाते थे। उसके बाद स्कूल जाते थे।

मोदी ने कहा- मारना मेरे संस्कार में नहीं, जान की रक्षा ऊपरवाला करता है
ग्रिल्स ने मोदी को बताया कि जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क बाघ का बहुत बड़ा आवास है। यहां बहुत सारे बाघ हैं। उन्होंने मोदी को सुरक्षा के लिए हथियार के तौर पर भाला दिया। ग्रिल्स ने कहा- आप भारत के सबसे महत्वपूर्ण व्यक्ति हैं। आप प्रधानमंत्री हैं। आपकी सुरक्षा का ध्यान रखना मेरा काम है। मोदी ने जवाब दिया कि मारना मेरे संस्कार में नहीं है। इंसान की सुरक्षा ऊपरवाला करता है। मोदी ने कहा- आप के कहने पर मैं यह भाला रख लेता हूं।

हिमालय में संतों से मिलता था: मोदी

मोदी ने शो में अपनी हिमालय यात्रा का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा- मैं दुनिया को समझने के लिए 17-18 वर्ष की आयु में हिमालय गया। मैं वहां लोगों से मिलता था। कई संतों से मिला। कम-से-कम चीजों में जीवन गुजारा। मोदी ने  कार्यक्रम में भारत की कला, संस्कृति, इतिहास और परंपरा का जिक्र किया। भारत की ‘वसुधैव कुटुम्बकम’ की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि भारत पूरे विश्व को अपना परिवार मानता है।

मोदी ने कहा- 2020 तक भारत पूरी तरह स्वच्छ बने
मोदी ने महात्मा गांधी का जिक्र किया। मोदी ने कहा- स्वच्छता लोगों के दिल में होना चाहिए। भारत की जनसंख्या ज्यादा है। हमारा लक्ष्य है कि भारत 2020 तक पूरी तरह स्वच्छ बने। कार्यक्रम में स्वच्छता को लेकर नरेंद्र मोदी एप पर बेहतर सुझाव मांगे गए। बेहतर सुझाव देने वाले को पीएम मोदी से मिलने का मौका मिलेगा।