NEET JEE Main 2020: नीट और जेईई मेन परीक्षा की तैयारी कर रहे बहुत से छात्र कोटा वापस आए

NEET JEE Main 2020: कोटा में इंजीनियरिंग और मेडिकल प्रवेश परीक्षाओं की तैयारी कर रहे अन्य राज्यों के बहुत से छात्र वापस इस कोचिंग सिटी में लौट आए हैं। कोरोना लॉकडाउन के चलते अप्रैल मई में यहां से यूपी, बिहार, दिल्ली, हरियाणा, महाराष्ट्र समेत कई राज्यों के हजारों विद्यार्थी मजबूरन अपने घर लौट आए थे। जेईई मेन 18 से 23 जुलाई के बीच होना है जबकि नीट परीक्षा 26 जुलाई को प्रस्तावित है। हालांकि कोविड-19 महामारी के चलते सीबीएसई 10वीं 12वीं कक्षा की शेष परीक्षाएं रद्द होने के बाद इन दोनों प्रवेश परीक्षाओं पर भी संशय के बादल मंडरा रहे हैं। मानव संसाधन विकास मंत्रालय और एनटीए (नेशनल टेस्टिंग एजेंसी) को इस पर अंतिम निर्णय लेना है। लेकिन इससे पहले ही बहुत से नीट व जेईई अभ्यर्थी तैयारी पर फोकस करने के लिए कोटा में अपने हॉस्टल, पीजी और किराये के कमरों में लौट आए हैं।

यूपी के गाजियाबाद की रहने वाली 18 साल की सृष्टि भी उन विद्यार्थियों में से एक है जो वापस इस कोचिंग हब में लौटे हैं। NEET की तैयारी कर रही सृष्टि ने कहा, ‘हमारी ज्वॉइंट फैमिली है। घर पर मुझे पढ़ाई का सही माहौल नहीं मिल पाता। मेरी तैयारी बुरी तरह प्रभावित हुई है। इसलिए मैंने अपने माता-पिता को अपने कोटा लौटने के लिए मनाया।’

सृष्टि कोटा के एक गर्ल्स हॉस्टल में रहती हैं। उन्होंने कहा, ‘ऐसा लगता है जैसे हमें कोविड-19 के साथ ही जीना होगा। मैं इस महामारी के चलते अपनी पढ़ाई को टाल नहीं सकती।’

त्रिपुरा के आगरतला की रहने वाली नीट अभ्यर्थी अनामिका पांडे ने कहा, ‘मैंने कोटा के हॉस्टल वापस लौटने का फैसला इसलिए किया क्योंकि घर पर ठीक से पढ़ाई नहीं हो पाती। काफी चीजें डिस्टर्ब करती हैं। हॉस्टल में रहकर मैं शेड्यूल के मुताबिक पढ़ाई कर सकती हूं जो घर पर मुमकिन नहीं होता।’

neet jee main 2020  many engineering medical entrance exams coaching students return to kota

राजस्थान के ही राजसमंद जिले की रहने वाली निहारिका यादव ने कहा, ‘मैंने 10 दिन पहले ही कोटा लौटी। अब मैं गंभीरता के साथ हॉस्टल रूम में पढ़ाई कर सकती हूं। हालांकि कोचिंग इंस्टीट्यूट बंद है लेकिन कोटा पढ़ाई के लिए उपयुक्त माहौल उपलब्ध करवाता है।’

एलेन करियर इंस्टीट्यूट के निदेशक नवीन माहेश्वरी ने कहा, ‘हमारे इंस्टीट्यूट के बहुत से बच्चे तैयारी के लिए वापस लौट आए हैं। करीब 1500 स्टूडेंट्स तो घर गए ही नहीं। हमें जैसा फीडबैक मिला है, कह सकता हूं कि सैकड़ों छात्र – छात्राएं कोटा वापस लौट आए हैं।’

मोशन कोचिंग इंस्टीट्यूट के निदेशक नितिन विजय ने कहा, ‘बहुत से छात्र ऐसे जिन्हें घर पर रहकर ऑनलाइन क्लास में तकनीकी दिक्कत आ रही थी। अब वह वापस कोटा लाए हैं। यहां रहकर उन्हें इस तरह की कोई दिक्कत नहीं होगी।’

SHARE