5 वर्ष से कम आयु वर्ग के विद्यार्थियों का नामांकन आंगनबाड़ी केन्द्रों में : वासुदेव देवनानी



जयपुर। शिक्षा राज्य मंत्री श्री वासुदेव देवनानी ने कहा है कि इस शिक्षा सत्र की वार्षिक परीक्षाओं के समापन के साथ ही विद्यालयों में नामांकन वृद्धि एवं ठहराव के लिए सघन अभियान चलाया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस बार ग्राम पंचायतों को ओडीएफ की तर्ज पर डीओफ यानी ड्राप आउट फ्री घोषित किया जाएगा। इसके तहत यह सुनिश्चित किया जाएगा कि कोई भी विद्यार्थी अध्ययन के बीच में पढ़ाई छोड़कर नहीं जाएं। इस हेतु ग्राम पंचायतों में पदस्थापित पंचायत शिक्षा प्रसार अधिकारी (पीईईओ) के साथ ही ग्राम पंचायतों को प्रोत्साहित करने के लिए कदम उठाए जाएंगे।
श्री देवनानी ने बताया कि सभी ग्राम पंचायतों में पंचायत शिक्षा प्रसार अधिकारी (पीईईओ) के माध्यम से घर-घर बालक-बालिकाओं का सघन सर्वे करवाया जाएगा। इसके तहत घर-घर जाकर 6 से 14 आयुवर्ग के बालक-बालिकाओं का चिन्हिकरण कर उनको विद्यालय में नाामांकित करवाने के प्रयास किए जाएंगे। इस बार सत्र 2017-18 में किये गये सघन सर्वे में चिन्हित 6 से 14 आयुवर्ग के अनामांकित बालक-बालिकाओं को भी विद्यालय से जोड़े जाने के विशेष निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि नामांकन वृद्धि एवं ठहराव हेतु चलाए जाने वाले सघन अभियान के तहत घर-घर सर्वे के दौरान चिन्हित समस्त आउट ऑफ स्कूल बच्चों को विशेष शिक्षण करवाया जाकर आयु अनुरूप कक्षा में प्रवेश दिए जाने के लिए भी निर्देश दिये गये हैं।
शिक्षा राज्य मंत्री ने बताया कि ग्राम पंचायतों में जिस तरह से पंचायत प्रसार अधिकारी बालक-बालिकाओं का चिन्हिकरण कर उन्हें विद्यालयों में जोड़ने का कार्य करेंगे, ठीक उसी प्रकार की कार्यवाही शहरी क्षेत्रों में बीईओ एवं नोडल संख्या प्रयासों के माध्यम से सुनिश्चित की जाएगी। उन्हाेंने बताया कि सघन अभियान के तहत 5 वर्ष से कम आयुवर्ग के बालक-बालिकाओं का नामांकन विद्यालय में समन्वित किये गये आंगनबाड़ी केन्द्रों में करवाया जाएगा।